पटना में कोरोना का फिर कोहराम, 37 कटेंनमेंट जोन बने, सील की कार्रवाई शुरू

Smart News Team, Last updated: Sat, 28th Nov 2020, 10:17 PM IST
  • पटना में नगर नेहरू नगर राजीव नगर और कंकड़बाग समेत 37 नए कंटेनमेंट जोन. डीएम कुमार रवि ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की रिपोर्ट के बाद पटना शहर और आसपास के इलाकों में कंटेनमेंट जोन बनाये जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि दानापुर अनुमंडल की समीक्षा की जा रही है.
पटना में कोरोना का फिर कोहराम, 37 कटेंनमेंट जोन बने, सील की कार्रवाई शुरू

पटना: पटना में कुल 37 मोहल्लों में कंटेनमेंट जोन बनाने के लिए सिविल सर्जन कार्यालय ने एसडीओ कार्यालय को सूची सौंपी है, डीएम ने बताया कि पटना जिले में पहले से 27 कंटेनमेंट जोन थे. शनिवार को यह संख्या बढ़कर 37 गई ,पटना शहर में बनाए गए कंटेनमेंट जोन को सील करने का काम शुरू हो गया है सदर अनुमंडल के शास्त्री नगर नेहरू नगर राजीव नगर और कंकड़बाग में आज कंटेनमेंट जोन को सील किया गया. जिला प्रशासन द्वारा जिन इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है, उसे सील करने की कार्रवाई शनिवार से शुरू की गई. इलाकों में प्रवेश द्वार पर ही बैरिकेडिंग कर दी गई. इन इलाकों में केवल अनिवार्य सेवा से जुड़े वाहन ही चलेंगे. इन इलाकों में विशेष जांच अभियान शुरू किया जाएगा.जिन मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है, उनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों की जांच कराई जाएगी.

डीएम कुमार रवि ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की रिपोर्ट के बाद पटना शहर और आसपास के इलाकों में कंटेनमेंट जोन बनाये जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि दानापुर अनुमंडल की समीक्षा की जा रही है. अगले एक-दो दिन में इस इलाके पर निर्णय होगा. कंकड़बाग और पटना सिटी इलाके में संक्रमण का फैलाव पहले की तुलना में बढ़ा है. इसीलिए इन इलाकों पर विशेष नजर रखी जा रही है. पहले से अति गंभीर माने जाने वाले राजीवनगर को भी इस बार कंटेनमेंट जोन में रखा गया है.

बिहार मेडिकल कॉलेजों में दाखिले को काउंसलिंग 1 दिसंबर से शुरू, फुल डिटेल्स

गंगा के किनारे बसे लोगों का होगा कोरोना टेस्ट

छठ महापर्व संपन्न होने के बाद स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन को आशंका है कि गंगा के किनारे बसे लोगों में संक्रमण हो सकता है. इसीलिए इन इलाकों में विशेष जांच अभियान शुरू करने का निर्णय लिया गया है. जल्द ही इन इलाकों में स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए कैंप लगाएगी.

बिहार असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में 36000 आवेदन, कैंडिडेट दूसरे राज्यों के ज्यादा

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें