IPL सट्टे में 10 लाख हारने के बाद तीन शातिरों की ATM लूट की कोशिश

Indrajeet kumar, Last updated: Sun, 14th Nov 2021, 10:59 AM IST
  • पटना पुलिस ने एटीएम काट चोरी करने वाले तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है. ये अपराधी आईपीएल मैच में सट्टा में 10 लाख रूपए गंवाने के बाद कर्ज चुकाने के लिए एटीएम से लूट करने करने की कोशिश कर रहे थे. इसी दौरान एक आदमी की नजर इन अपराधियों पर पड़ी और उसने नजदीकी थाने में जाकर इसकी सूचना दे दी.
प्रतीकात्मक फोटो

पटना. पटना पुलिस ने एटीएम काट चोरी करने वाले जीजा-साले को गिरफ्तार किया है. ये मामला पत्रकार नगर थाना क्षेत्र के 90 फीट रोड स्थित एटीएम की है. ये अपराधी आईपीएल मैच में सट्टा में 10 लाख रूपए गंवाने के बाद कर्ज चुकाने के लिए एटीएम से लूट करने गए थे. इस घटना को अंजाम देने के लिए इन लोगों ने अपने एक साथी को भी शामिल किया था. तीनों अपराधी कार से चोरी करने के लिए पहुंचे थे. एटीएम मशीन काटने के दौरान इन तीनों पर एक एक आदमी की नजर पड़ी. जिसके बाद उसने नजदीकी थाने जाकर इसकी जानकारी पुलिस को दी. जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर अपराधियों को दबोचा. इस दौरान अपराधियों और पुलिस केबीच हाथापाई भी हुई. तीनों ने एटीएम से 35 लाख 45 हज़ार रुपये लूट की योजना बनाई थी. घटनास्थल पर एचडीएफसी और टाटा इंडिकैश का एटीएम था.

मिली जानकारी के मुताबिक एचडीएफसी एटीएम में उस वक्त 33 लाख रुपए मौजूद था. वहीं टाटा इंडिकैश में 2 लाख 45 हजार रुपये मौजूद थे. तीनों ने एटीएम के ठीक बगल के रेस्टोरेंट में लूट की योजना बनाई थी. इन तीनों में से मुख्य अपराधी शुभम सीतामढ़ी जिले के सोनबरसा का रहने वाला है जो पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र के आरएमएस कॉलोनी के आशा डबल डायमंड अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 102 में रहता है. वहीं दूसरा आरोपी जीजा वाल्मीकि कुमार ठाकुर सीतामढ़ी जिले के बेला थाना के धनहा का रहने वाला है. जबकि तीसरा अपराधी 21 वर्षीय राहुल कुमार पटना के दीदारगंज का रहने वाला है.

बिहार: मधुबनी में पत्रकार की हत्या, अधजली लाश बरामद, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

मुख्य अपराधी वाल्मीकि ठाकुर इंडियन आर्मी में जवान है. और वह दिवाली में अपने साले के पास आया था. शुभम एचडीएफसी पुणे बानेर ब्रांच में ट्रेलर का काम करता है जो कि लॉकडाउन में पटना आया हुआ था. शुभम के पिता वैशाली के महुआ में उत्तर बिहार बैंक में कार्यरत हैं. तीसरा आरोपी राहुल शुभम का दोस्त है और राहुल के पिता एलआईसी में कार्यरत हैं. मिली जानकारी के मुताबिक शुभम ने बैंकिंग नेटवर्किंग की पढ़ाई की है जबकि राहुल बी-टेक किया है. शुभम पहले भी कंकड़बाग थाना क्षेत्र से लूट के केस में जेल जेल जा चुका है. शुभम पत्रकार नगर थाना क्षेत्र से ब्राउन शुगर मामले में भी जेल भेजा जा चुका है. जबकि उसका बड़ा भाई पुटूश हत्याकांड मामले में जेल जा चुका है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें