भारत में हरित क्रांति को सफल बनाने में इफको की अहम भूमिका: गृह मंत्री अमित शाह

Ankul Kaushik, Last updated: Sun, 26th Sep 2021, 4:03 PM IST
  • दिल्ली में देश के पहले राष्ट्रीय सहकारिता सम्मेलन को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा भारत में हरित क्रांति को सफल बनाने में इफको की अहम भूमिका है. इसके साथ ही गृह मंत्री अमित शाह ने इफको द्वारा निर्मित दुनिया के पहले नैनो तरल यूरिया की भी प्रशंसा की.
राष्ट्रीय सहकारिता सम्मेलन में गृह मंत्री अमित शाह

पटना. देश के गृह मंत्री व सहकारिता मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय सहकारिता सम्मेलन में उर्वरक कोआपरेटिव इफको की काफी प्रशंसा की. गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देश में हरित क्रांति को सफल बनाने में इफको की अहम भूमिका है. इसके साथ ही अमित शाह ने विश्व की पहले नंबर की उर्वरक कोआपरेटिव इफको द्वारा निर्मित दुनिया के पहले नैनो तरल यूरिया की काफी सराहना की. दिल्ली में आयोजित हुए देश के पहले राष्ट्रीय सहकारिता सम्मेलन में अमित शाह ने कहा कि देश में हरित क्रांति को सफल बनाने और कृषि क्षेत्र में एक नई क्रांति लाने में इफको का अहम योगदान है. अमित शाह ने कहा कि इफको आज 5.5 करोड़ किसानों को फायदा दे रहा है. गृह मंत्री ने कहा कि इफको जैसी बड़ी कंपनी अपने शुद्ध लाभ में किसानों को हिस्सेदार बनाती है.

वहीं सहकारिता के बारे में आगे बात करते हुए अमित शाह ने कहा कि अधिकतर कोई कंपनी कमाती है तो उसकी अधिकतर कमाई मालिक के पास जाती है. हालांकि सहकारिता में ऐसा नहीं होता है अब इफको जो कुछ कमाएगी उसकी पाई-पाई 5.5. करोड़ किसानों के घर में जाएगी. दिल्ली में आयोजित हुए इस सम्मेलन में अमित शाह ने कहा कि सहकारिता की भावना हमें साथ मिलकर चलने के लिए प्रेरित करती है. मुझे विश्वास है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सहकार से समृद्धि का मंत्र सहकारिता क्षेत्र को और सशक्त करने व इससे जुड़े लोगों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने में मील का पत्थर सिद्ध होगा.

इफको नैनो यूरिया का इस्तेमाल कैसे करें, कितना पानी, कब छिड़काव, प्रयोग विधि वीडियो

अमित शाह ने इस सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा- नई सहकार नीति जो पहले 2002 में अटल जी लेकर आए थें और अब आजादी के अमृत महोत्सव पर मोदी जी लेकर आएंगे. इसके साथ ही अगले 5 साल में हर दूसरे गांव में PACS को पहुँचाने और इनकी संख्या बढ़ाकर 3 लाख तक करने हेतु उचित कानूनी खाका तैयार करने का काम सहकारिता मंत्रालय करेगा. मैं सहकारिता क्षेत्र की सभी समस्याओं से अच्छी तरह परिचित हूँ, क्योंकि मैं भी आप में से ही एक हूँ.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें