पटना एयरपोर्ट पर इंडिगो ने मुंबई के पैसेंजर्स को बेंगलुरू की फ्लाइट पर बिठाया, हंगामा

Sumit Rajak, Last updated: Tue, 16th Nov 2021, 8:23 AM IST
  • लोकनायक जयप्रकाश नारायण पटना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पर रविवार की देर रात तक एक अजीबोगरीब वकाया हुआ. इंडिगो के दो विमान के आस पास होने की वजह से फ्लाइट संख्या 6 ई 235 मुंबई जाने वाली यात्रियों को बेंगलुरु के विमान 6 ई 257 में बैठा दिया गया. विमानन कंपनी की बस चालक ने गलती की जबकि दूसरी विमान कंपनी के लेंडर ब्वॉय से हुई. 
FILE PHOTO

पटना. लोकनायक जयप्रकाश नारायण पटना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पर रविवार की देर रात तक एक अजीबोगरीब  वकाया हुआ. इंडिगो के दो विमान के आस पास होने की वजह से फ्लाइट संख्या 6 ई 235 मुंबई जाने वाली यात्रियों को बेंगलुरु के विमान 6 ई 257 में बैठा दिया गया. 

पहले संबंधित विमानन कंपनी की बस चालक ने गलती की जबकि दूसरी विमान कंपनी के लेंडर ब्वॉय से हुई. एक ही एयरलाइंस के दो विमानों के आसपास और लगभग एक समय होने से यात्री भी भ्रम में आ गए. गनीमत यह रही कि एक ही सीट नंबर होने की वजह से विमान के भीतर मामला तुरंत प्रकाश में आ गया और गलती से दूसरे विमान में चढ़े मुंबई के यात्रियों को डीबोर्ड कराकर उनकी मुंबई जाने वाले फ्लाइट में बिठाया गया. इस दौरान कई यात्री हंसते दिखे तो कई यात्रियों ने एयरलाइंस को फटकार भी लगाई. देर तक विमान यात्रियों को केबिन क्रु और विमानों के अन्य प्रतिनिधि समझते रहे.

पटना में दिनदहाड़े पूर्व मंत्री वीणा शाही के शोरूम के मैनेजर से 45 लाख की लूट

केबिन क्रू ने मामला समझा

सीट पर बैठने को लेकर जब हंगामा कर यात्री का बोर्डिंग पास चेक हुआ तो केबिन क्रु ने मामला समझा. इसके बाद दूसरे विमान में चढ़े यात्रियों को डिकॉर्ड कर दूसरे विमान में बिठाया गया.पूरे मामले में यात्रियों में खूब नोकझोंक भी हुई. एक ही सीट को लेकर कई यात्री आपस में जब उलझने लगे तो विमान में मौजूद केबिन क्रू ने मामले को शांत कराया. सीट पर बैठने को लेकर जब हंगामा कर रहे यात्री का बोर्डिंग पास चेक हुआ तो केबिन क्रू ने मामला समझा और विमानन कंपनी के उच्चाधिकारियों को सूचना दी. इसके बाद गलती से दूसरे विमान में चढ़े यात्रियों को डीबोर्ड कर दूसरे विमान में बिठाया गया. अगर दो चार की संख्या में यात्री दूसरे विमान में सवार हुए होते तो तो उन्हें मुंबई की जगह बेंगलुरू की यात्रा करनी पड़ती.

लगभग 30 से 35 यात्रियों के साथ हुई यह घटना

फ्लाइट संख्या 6 ई 235 से मुंबई जाने वाली यात्रियों ने बताया कि सुरक्षा जांच और बोर्डिंग गेट से बस में सवार होने तक सब कुछ सही था. लेकिन इसी बीच बस चालक ने बिना किसी कम्युनिकेशन के मुंबई जाने वाले 30 से 35 यात्रियों को बेंगलुरु जाने वाले विमान 6 ई257 के पास उतार दिया. मुंबई की फ्लाइट के रवाना होने का समय रात 10 बजे था जबकि बेंगलुरु जाने वाले विमान का समय रात 11 बजे. इस दौरान भ्रम होने से बेंगलुरु जाने वाले विमान के सामने उतरे मुंबई के यात्री बेंगलुरु जाने वाले विमान में चढ़ते गए. यहां लेंडर ब्वॉय से बड़ी गलती हुई और उसने यात्रियों का बोर्डिंग पास नहीं देखा. दरअसल कोविड गाइडलाइन के बाद से यात्री मोबाइल से ही बोर्डिंग पास दिखाकर सवार हो रहे हैं. पहले बोर्डिंग पास का एक हिस्सा बोर्डिंग गेट पर और एक अन्य हिस्सा विमान में ठीक से वार होने लैंडर बॉय द्वारा रख लिया जाता था लेकिन रविवार को ऐसा ना होने से यह गड़बड़ी हो हुई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें