आदेश बेअसर, बिहार चुनाव में लगी गाड़ियों के मालिकों को नहीं मिला किराया

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 03:36 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव खत्म हुए एक महीने के बाद भी चुनाव कार्य में लगे वाहनों के मालिकों को अब तक वाहन का किराया नहीं मिला पाया है. परिवहन विभाग के आदेश के बावजूद भी गाड़ियों के मालिकों को किराये का भुगतान नहीं किया गया है.
चुनाव कार्य में लगे वाहनों के मालिकों को अब तक वाहन का किराया नहीं मिला पाया है.

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव संपन्न हो गया है, नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार का गठन भी हो चुका है. चुनाव खत्म हुए एक महीने के बाद भी चुनाव कार्य में लगे वाहनों के मालिकों को अब तक वाहन का किराया नहीं मिला पाया है. बिहार चुनाव में 1.5 लाख से अधिक गाड़ियों का प्रयोग हुआ था. इन गाड़ियों के मालिक किराये के लिए अधिकारियों के चक्कर काट रहे हैं.

इस संबंध में परिवहन विभाग ने आदेश दिया है बावजूद इसके चुनाव के दौरान बने जिले के वाहन कोषांग अधिकारियों ने इन वाहन मालिकों को किराये का भुगतान नहीं किया. चुनाव के दौरान परिवहन विभाग की तरफ से एसी-नॉन एसी, छोटे-बड़े वाहनों को देखते हुए किराया तय किया गया था. वाहनों के हर दिन किराये के अलावा तेल का पैसा भी अलग से देने का आदेश परिवहन विभाग ने दिया था. साथ ही चालकों को खाने-पीने के पैसे भी देने के लिए कहा गया था. हर जिले के वाहन कोषांग अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई थी.

गाड़ियों के मनपसंद नंबर लेने की मची होड़, पटना में तेजी से हो रहे रजिस्ट्रेशन

परिवहन विभाग ने कहा था कि जैसे-जैसे चुनाव कार्यक्रम खत्म होता जाएं, वैसे-वैसे गाड़ियों का किराया मालिकों को भुगतान कर दिया जाए. खासकर उन गाड़ियों को तुरंत भुगतान कर दिया जाए जो चुनावी कार्यों से खाली हो गई है. परिवहन विभाग ने यह भी कह था कि बिहार चुनाव की काउंटिंग के बाद सभी वाहन मालिकों को वाहन किराया भुगतान कर दिया जाए. बावजूद इसके सैकड़ों वाहन मालिकों को वाहन किराया अभी तक नहीं मिला है. 

LJP में टूट का दावा करने वाले महासचिव केशव सिंह को चिराग पासवान ने लोजपा से निकाला

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें