पटना पहुंचे उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, रविवार को करेंगे धर्म धम्म सम्मेलन का उद्धाटन

Shubham Bajpai, Last updated: Sat, 6th Nov 2021, 9:55 PM IST
  • बिहार के दो दिवसीय दौरे पर उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू शनिवार शाम पटना पहुंचे. इस दौरान सीएम नीतीश कुमार उपराष्ट्रपति का स्वागत करने खुद आए. वैंकेया नायडू शनिवार रात राजभवन में रूक कल नालंदा में शुरू होने जा रहे धर्म धम्म सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होकर कार्यक्रम का उद्धाटन करेंगे.
पटना पहुंचे उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, नालंदा में कल करेंगे धर्म धम्म सम्मेलन का उद्धाटन (फोटो सभार लाइव हिंदुस्तान)

पटना. राजधानी में शनिवार देर शाम उपराष्ट्रपति एम वेंकेया नायडू पहुंचे. इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनका स्वागत करने पहुंचे. वेंकैया नायडू बिहार के दो दिवसीय दौरे पर आए हैं. जिसमें वो मोतिहारी में कृषि विश्वविद्यालय के दीक्षांत और नालंदा में एक कार्यक्रम के उद्धाटन समारोह में शामिल होंगे.

उपराष्ट्रपति बिहार में करीब 22 घंटे 45 मिनट का समय बिताएंगे. इस दौरान वो कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के बाद रविवार शाम को दिल्ली रवाना हो जाएंगे.

मिथिला विश्वविद्यालय के 41 कालेजों में 10200 अतिरिक्त सीट बढ़ाने को बिहार सरकार की मंजूरी

राजभवन में रात्रि विश्राम कर सुबह होंगे मोतिहारी के लिए रवाना

उपराष्ट्रपति शनिवार रात को राजभवन में रात्रि विश्राम करेंगे. जिसके बाद सुबह वेंकैया नायडू मोतिहारी के लिए रवाना होंगे. जहां राजेंद्र प्रसाद कृषि विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे. कार्यक्रम में वो पासआउट हुए स्टूडेंट्स को सर्टिफिकेट बांटने के साथ दीनदयाल उपाध्याय हॉर्टिकल्चर कॉलेज के नए भवनों और पशु प्रजनन उत्कृष्टता केंद्र का भी उद्धाटन करेंगे.

IBPS के 4135 पदों पर भर्ती के लिए 10 नवंबर आवेदन की लास्ट डेट, फुल डिटेल्स

नालंदा में बिताएंगे 3 घंटा 50 मिनट

मोतिहारी से उपराष्ट्रपति नालंदा अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय में धर्म धम्म पर आयोजित तीन दिवसीय सम्मेलन का उद्धाटन करेंगे. इस कार्यक्रम में सीएम नीतीश कुमार, विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी, राज्यपाल फागू चौहान समेत प्रदेश के कई मंत्री शामिल होंगे. इस दौरान दोपहर 12 बजकर 25 मिनट पर राजगीर पहुंच शाम 4 बजकर 15 मिनट पर राजगीर से निकलेंगे. वहीं, उपराष्ट्रपति शाम 5 बजे दिल्ली वापस रवाना हो जाएंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें