तेजस्वी नोट बांटते Video में कैद, चल सकता है पंचायत चुनाव आचार संहिता का डंडा

Atul Gupta, Last updated: Fri, 10th Sep 2021, 2:33 PM IST
  • गोपालगंज में एक जनसभा को संबोधित कर लौट रहे तेजस्वी यादव ने कुछ महिलाओं को 500-500 रूपये बांटे जिसपर बवाल हो गया है. तेजस्वी यादव पर पंचायत चुनाव आचार संहिता की कार्रवाई भी हो सकती है.
महिलाओं को पैसे बांटते राजद नेता तेजस्वी यादव

पटना. आरजेडी नेता और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं. तेजस्वी यादव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें वो महिलाओं को 500-500 रूपये बांटते हुए नजर आ रहे हैं. मामला गोपालगंज का है जहां एक जनसभा को संबोधित करने के बाद तेजस्वी यादव वापस लौट रहे थे. इस दौरान तेजस्वी यादव की गाड़ी के पास कुछ महिलाएं आईं जिन्हें तेजस्वी यादव ने रूपये बांटे. यही नहीं, वो उन्हें अपना परिचय भी दे रहे हैं कि हम लालू यादव के बेटे हैं. कमाल की बात ये है कि यह वीडियो राजद ने अपने आधिकारिक पेज पर भी पोस्ट किया है.

वीडियो वायरल होने के साथ ही जेडीयू ने तेजस्वी यादव पर एक के बाद एक तंज कसना शुरू कर दिया है. जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने शर्म करो बबुआ कहकर तेजस्वी पर निशाना साधा है. नीरज कुमार ने सोशल मीडिया पर लिखा 'पीछे से कोई कहता है कि ये लाल उन्हीं का है। जिन्होंने लिखवा ली थी उनकी जमीन बदले उसके चंद नोट के टुकड़े, आंचल में सबके डाल आया था। लालू के लाल से पूछो गरीबी का माखौल क्यों उड़ाया। वोट को नोट क्यों दिखलाया इंसानों की मजबूरी का कुछ तो लिहाज कर लो। शर्म करलो बबुआ'

ससुराल और पत्नी से तंग पति सड़क पर किडनी बेचने निकला, पोस्टर पर छाप दी सास-साले की फोटो

मामला तूल पकड़ता देख राजद अब डिफेंसिव मोड़ में नजर आ रही है. पार्टी का कहना है कि तेजस्वी बाढ़ पीड़ितों की मदद कर रहे थे. राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा कि तेजस्वी यादव के पास बाढ़ पीड़ित महिलाएं आई थीं जिनकी तेजस्वी यादव ने मदद की, इसमें क्या गलत है. चितरंजन गगन ने जेडीयू के आरोपों पर कहा कि उनके पास करने को कुछ है नहीं तो बयानबाजी ही करेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें