यूपी में NO एंट्री से भड़के मुकेश सहनी योगी, BJP पर बरसे,नहीं छोड़ेंगे NDA सरकार

Smart News Team, Last updated: Mon, 26th Jul 2021, 5:41 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में फूलन देवी के शहादत दिवस पर एंट्री नहीं मिलने के बाद सोमवार को वीआईपी चीफ मुकेश सहनी ने एनडीए की बैठक का बहिष्कार किया. इसके बाद उन्होनें अपने मंत्री आवास पर प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर एक बड़ा बयान दे डाला है. 
UP में एंट्री नहीं मिलने के बाद मुकेश सहनी ने आज बिहार एनडीए मीटिंग का बहिष्कार किया है.

पटना. वीआईपी पार्टी अध्यक्ष और नीतीश कुमार की अगुवाई वाली एनडीए सरकार में मंत्री मुकेश सहनी रविवार को वाराणसी एयरपोर्ट से ही लौटाने से खासे नाराज हैं. पटना में बिहार विधानसभा में एनडीए की मीटिंग में सहनी और उनकी पार्टी के विधायक नहीं गए. बाद में मीडिया से बातचीत में सहनी बीजेपी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर खूब बरसे. उन्होंने कहा कि यूपी में योगी सरकार एक जाति विशेष के लिए काम कर रही है और फूलन देवी की शहादत दिवस पर उनके साथ जो हुआ उसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नारा सबका साथ, सबका विकास की झलक नहीं दिखी.

सहनी ने एनडीए गठबंधन छोड़ने की अटकलों पर पत्रकारों के सवाल पर कहा कि नीतीश सरकार पूरे पांच साल चलेगी और सरकार में बने रहेंगे. उन्होंने कहा कि जरूरत है कि हर हफ्ते-दस दिन पर एनडीए की मीटिंग हो लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है. उन्होंने कहा कि एनडीए के घटक दलों की नियमित बैठक होनी चाहिए जिससे 19 लाख रोजगार समेत जनता से चुनाव में किए गए अन्य वादे पूरे किए जा सकें.

सहनी ने कहा कि बिहार में सरकार एनडीए गठबंधन की है जिसमें जेडीयू, बीजेपी के अलावा वीआईपी और हम भी शामिल है लेकिन चर्चा ऐसी होती है जैसे कि सरकार बस बीजेपी और जेडीयू की है. उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार ठीक से चल रही है लेकिन गठबंधन के चारों घटक दल उसमें नजर नहीं आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी वीआईपी के साथ-साथ जीतनराम मांझी के हम पार्टी की भी अनदेखी हो रही है. 

बिहार में बनारस का बदला, मुकेश सहनी की VIP के MLA का NDA मीटिंग का बॉयकॉट 

याद रहे कि बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव की अगुवाई वाले महागठबंधन से तालमेल टूटने के बाद बीजेपी ने अपने कोटे की 11 सीटें देकर मुकेश सहनी को एनडीए में बुलाया था. इस समय विधानसभा में सहनी की पार्टी के 4 विधायक हैं. खुद सहनी विधान परिषद में हैं, जो बीजेपी ने गठबंधन करते वक्त उनसे वादा किया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें