Viral Video: शराब पकड़ने गई टीम पर तलवार-त्रिशूल लेकर टूट पड़ी महिला, कहा- देवी हूं, काट दूंगी

Atul Gupta, Last updated: Fri, 7th Jan 2022, 5:59 PM IST
  • सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें एक महिला एक हाथ में तलवार और दूसरे में त्रिशूल लिए शराब पकड़ने गई पुलिस पर हमला करते नजर आ रही है. वीडियो बिहार का बताया जा रहा है.
बिहार में महिला का हंगामा (फोटो- सोशल मीडिया)

पटना: बिहार में शराबबंदी को लेकर जोर-शोर से अभियान चलाया जा रहा है. सीएम नीतीश कुमार राज्य में शराबबंदी को सख्ती से लागू करने के लिए प्रशासन को टाइट कर रहे हैं लेकिन जमीनी स्तर पर शराबबंदी रोकने जा रही टीम को कैसे-कैसे लोगों का सामना करना पड़ता है इसकी एक झलक इस वीडियो में देखिए. दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो बिहार का है. वीडियो में एक महिला चंडिका रूप में आई हुई है. एक हाथ में त्रिशूल तो एक हाथ में तलवार लिए महिला अधिकारियों को धमका रही है. इस बीच महिला तलवार चला रही है. गुस्से से भरी महिला हाथ में तलवार और त्रिशूल लिए अधिकारियों पर चढ़ जाती है. अधिकारी कहते हैं अरे अरे... मर्डर केस हो जाएगा. फिर महिला कहती है मेरी जवान बेटी है. महिला कहती है कि सरकार मुझे खाने को देगी? मेरा आदमी बाहर है. हम क्या करेंगे, चोरी करेंगे.. छीना-झपटी करेंगे? हम मर जाएं?

गौरतलब है कि बिहार में शराबंदी के बाद से शराब माफिया तेजी से पैदा हुए हैं जो अब इतने बाहुबली हो गए हैं कि पुलिस प्रशासन को कुछ नहीं समझते और सीधा हमला कर देते हैं. कई मौकों पर पुलिसकर्मी घायल हुए हैं और कई मौकों पर तो पुलिसकर्मियों की जान तक चली गई है. बावजूद इसके शराब माफिया को रोकने की प्रशासन की कोशिश नाकामयाब साबित होती रही है. पिछले दिनों बिहार में शराब से कई जिलों में कई मौते हुईं जिसके बाद सरकार ने व्यापक तौर पर शराबबंदी अभियान चलाया. यही नहीं, इस दौरान सरकारी कर्मचारियों को शराब ना पीने की कसम भी खिलाई गई.

प्राइवेट पार्ट पर दांत से काटता था पति, पत्नी पहुंची थाने, जब्त हुई बत्तीसी

फिर भी बिहार में शराबबंदी का आलम ये है कि आए दिन कहीं ना कहीं शराब की बोलतें मिल ही जाती है. कई बार तो सत्ताधारी पार्टी के नेता और अफसर शराब पीते पकड़े जाते हैं. बिहार में शराबबंदी कानून 2016 से लागू है लेकिन हर साल कई लोगों की जान जहरीली शराब पीने की वजह से हो जाती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें