पटना

क्या है जीरो प्वाइंट नाला विवाद, यही हाल रहा तो इस बार भी डूबेगा पटना का कंकड़बाग

Smart News Team, Last updated: 02/06/2020 09:15 PM IST
  • हाल ही में पटना ने हल्की बारिश और जलजमाव की वजह से भयंकर त्रासदी झेली है, मगर राजनीति का तकाजा तो देखिए कि अब भी कोई सबक लेने को तैयार नहीं है। पटना के कंकड़बाग अंचल के जीरो प्वाइंट संप हाउस से तीन नालों को जोड़ने की योजना राजनीति की भेंट चढ़ने जा रही है।
Patna Kankarbagh Area

हाल ही में पटना ने हल्की बारिश और जलजमाव की वजह से भयंकर त्रासदी झेली है, मगर राजनीति का तकाजा तो देखिए कि अब भी कोई सबक लेने को तैयार नहीं है। पटना के कंकड़बाग अंचल के जीरो प्वाइंट संप हाउस से तीन नालों को जोड़ने की योजना राजनीति की भेंट चढ़ने जा रही है। एक पक्ष नाला निर्माण कराने के लिए धरना दे रहा है तो वहीं दूसरा पक्ष जीरो प्वाइंट संप हाउस से नाला को जोड़ने का विरोध कर रहा है। दूसरे पक्ष का कहना है कि इसे योगीपुर संप हाउस से जोड़ा जाए।

नगर निगम इन तीनों नालों का निर्माण जलजमाव से मुक्ति दिलाने के लिए कर रहा है। हालांकि एक नाले के निर्माण को नगर आयुक्त ने स्थगित कर दिया है। कई संगठन इन नालों के निर्माण के समर्थन और विरोध में खड़े हो गए हैं।

स्थानीय विधायक अरुण कुमार सिन्हा इसे जनोपयोगी बता रहे हैं तो वहीं दक्षिण नागरिक संघर्ष समिति नाला को जोड़ने के बजाए स्थायी समाधान की मांग कर रहा है। वहीं, वार्ड पार्षद पिंकी यादव तीन में से दो नाले को जीरो प्वाइंट से जोड़ने का समर्थन कर रही हैं तो तीसरे नाले को जीरो प्वाइंट से जोड़ने के बजाए एनबीसीसी नाला से जोड़ने की मांग कर रही हैं। ऐसे में इस योजना पर पूरी तरह से राजनीति हावी हो चुकीी है। यही हाल रहा तो इस बार भी कंकड़बाग का डूबना तय है।

जलजमाव से बचाने को तीनों नालों का जल्द हो निर्माण: मंच

नाला निर्माण के समर्थन में एक गुट ने कंकड़बाग अंचल कार्यालय के समक्ष धरना दिया। कंकड़बाग विकास मंच के बैनर तले हुए धरने में इंदिरा नगर, संजय नगर, नवरत्नपुर, रामलखन पथ, डिफेंस कॉलोनी, आजाद नगर आदि के लोग शामिल रहे। रवि सिंह की अध्यक्षता में हुए धरने के बाद लोगों ने कुम्हरार विधायक अरुण सिन्हा, कार्यपालक पदाधिकारी, मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, सांसद और महापौर के नाम ज्ञापन भेजा। इन्होंने तीनों नालों का निर्माण बरसात से पहले पूरा कराने की मांग की। कहा कि नाला निर्माण नहीं हुआ तो क्षेत्र के लोगों को एक बार फिर जलजमाव का सामना करना पड़ेगा। धरना संयोजक रवि सिंह ने कहा कि नाला बन जाने से पोस्टल पार्क, इंदिरा नगर, चांदमारी रोड, आजाद नगर, बुद्धनगर, नवरतनपुर, संजय नगर, अशोक नगर, रामलखन पथ समेत अन्य इलाकों का बारिश का पानी आसानी से निकलेगा, जिसे लाखों लोगों को लाभ होगा। वार्ड संख्या 31 के पार्षद प्रतिनिधि विजय चंद्रवंशी,वार्ड 32 के पार्षद प्रतिनिधि सुजीत यादव, मुकेश साह, महेन्द्र शर्मा, सोनू यादव, चुनमुन सिंह, वैद्यनाथ रमन आदि ने भी धरना को संबोधित किया। धरना में अशोक कुमार छोटू, पप्पू सिंह, राजू सिन्हा, आदि मौजूद रहे।

शीघ्रता से कराया जाए नाला निर्माण: अरुण सिन्हा

विधायक अरुण कुमार सिन्हा ने धरना पर बैठे लोगों को आश्वासन दिया है कि तीनों नालों के निर्माण को तेज गति से बारिश से पहले पूर्ण कराने के लिए उच्चाधिकारियों एवं वरीय नेताओं से वार्ता कर कार्य को पूरा कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि एक बड़ी आबादी को राहत देने के लिए नाला निर्माण शीघ्रता से कराया जाए।

जलजमाव का सरकार स्थायी समाधान करे: दक्षिण नागरिक समिति

दक्षिण नागरिक संघर्ष समिति ने बैठक कर नाला का निकास योगीपुर संप हाउस में करने की मांग की। कहा कि इससे नए इलाकों के पानी सीवरेज भी निकले तथा पुराने इलाकों की जल निकासी की व्यवस्था पर कोई असर भी नहीं हो। बैठक के बाद पूर्व मंत्री मिथिलेश कुमार सिंह, पटना दक्षिण नागरिक संधर्ष समिति के अध्यक्ष दीपक कुमार अग्रवाल, वार्ड संख्या 34 के पार्षद कुमार संजीत बबलू ने एक सयुक्त प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि कंकङबाग की जनता का विरोध नये विकसित इलाकों के जल निकासी वयवस्था से नहीं है। उनहोंने कहा कि पोस्टल पार्क, रामविलास चौक, नवरत्नपुर, संजय नगर, ईन्दरा नगर,अशोक नगर की जल निकासी योगीपुर से हो। ऐसा होने से ही स्थायी समाधान हो सकेगा।

उन्होंने कहा कि समिति योगीपुर के आउटफाल में जुड़ेने से पुराने इलाकों की जल निकासी पर भी प्रभाव नहीं पड़ेगा। नये विकसित इलाकों के जलजमाव की समस्या का निराकरण स्थायी तौर पर हो सकेगा। समिति का कहना है कि कंकड़बाग के जीरो प्वाइंट तथा पुराने ड्रेनेज व सीवरेज की क्षमता की अपनी सीमाएं है। ऐसे में नव विकसित कालोनियों के जल निकासी प्रणाली नहीं होंने के कारण जीरो प्वाइंट पर लाने से जलजमाव की समस्या होगी।

एनबीसीसी के नाला से जोड़ा जाए एक नाला: पार्षद

वार्ड 32 की पार्षद पिंकी यादव का कहना है कि जीरो प्वाइंट संप हाउस का निर्माण कंकड़बाग के पश्चिमी क्षेत्र पोस्टल पार्क, अशोक नगर, रामलखन पथ, पश्चिमी इंदिरा नगर, नवरतनपुर,संजय नगर आदि को जलजमाव से मुक्ति के लिए किया गया है। इसलिए दो नालों को जीरो प्वाइंट संप हाउस से जोड़ने का समर्थन करती हूं। तीसरा नाला, रामलखन पथ से द्वारिका कॉलेज होते हुए जीरो प्वाइंट तक आने वाले नाले को जीरो प्वाइंट से जोड़ने का विरोध किया है। उसे एनबीसीसी से जोड़ने की मांग की है।

उप महापौर ने जांच की मांग की

पटना नगर निगम की उप महापौर मीरा देवी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि जीरो प्वाइंट तथा कंकड़बाग कालोनी मोड़ पर बाहर के इलाकों से ड्रेन को जोड़ने पर जनता के विरोध के बावजूद सरकार की चुप्पी सवाल खड़े करती है। ड्रेनेज को सीवरेज से जोड़ना पटना नगर निगम अधिनियम के तहत गैर कानूनी है। इसकी उच्च स्तरीय जांच तकनीकी समिति से कराकर स्थायी समाधान निकाला जाए।

अन्य खबरें