विहाहिता ने लगाई फांसी, पति शव लेकर पहुंच गया पुलिस थाने, आखिर क्या है वजह

Smart News Team, Last updated: Thu, 24th Sep 2020, 5:41 PM IST
  • धनरुआ में 30 वर्षीया विवाहिता ने पारिवारिक कलह के कारण फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. पति इलाज के लिए पटना ले जा रहा था लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. जिसके बाद पति खुद शव को लेकर अस्पताल पहुंचा.
प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना: धनरुआ थाने के भाईपुर गांव में एक महिला के आत्महत्या करने से इलाके के लोग  सन्न हैं. मौत की वजह पारीवारिक कलह बताई जा रही है. विवाहिता की मौत के बाद उसके मायके वालों को सूचना पहुंचा दी गई पुलिस का कहना है कि उनके आने के बाद ही कार्रवाई आगे बढ़ाई जा सकती है.

जानकारी के मुताबिक जहानाबाद के निजाउद्धीनपुर की रहने वाली सुनीता देवी की शादी बर्ष 2006 में धनरुआ के भाईपुर गांव के सुरेन्द्र यादव के साथ हुई थी. उनके दो बच्चे हैं. लोगों का कहना है कि सुनीता और सुरेन्द्र के बीच अक्सर किसी न किसी बात पर क्लेश होती रहती थी. ‌ बुधवार की सुबह जब सुनीता का पति सुरेन्द्र यादव धनरूआ बाजार बाल कटवाने गया था. उस दौरान सुनीता घर में अकेली थी. जिसके बाद उसने अपने कमरे में छत में लगे पंखे की हुक में फंदा लगा कर फांसी लगा ली. बाजार से वापस लौटे सुरेन्द्र ने जैसे ही सुनीता को देखा उसके पैरों तले जमीन खिसक गई. वह आनन फानन में उसे उतार इलाज के लिए पटना लेकर जाने लगा. इसी बीच रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया.

रणदीप सुरजेवाला का मोदी और नीतीश सरकार पर निशाना, कहा-किसानों को तबाह कर रहे

जिसके बाद सुरेन्द्र खुद अपनी पत्नि का शव लेकर थाने पहुंच गया. इधर पुलिस विवाहिता के मायके जहानाबाद के निजाउद्धीनपुर इसकी सूचना दे दी है. थानाध्यक्ष राजू कुमार ने बताया कि मायके वाले के आने के बाद ही इस संबंध में आगे की कारवाई की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें