पटना

PHOTO: चीन से संघर्ष में शहीद बिहटा के वीर सुनील को पटना एयरपोर्ट पर विदाई सलामी

Smart News Team, Last updated: 17/06/2020 08:08 PM IST

  • भारत और चीन की सेना के बीच गलवान घाटी में संघर्ष के दौरान भारतीय सेना की 16 बिहार रेजीमेंट की टुकड़ी के शहीद जवान सुनील कुमार का पार्थिव शरीर पटना पहुंचा जिसे एयरपोर्ट पर विदाई और सलामी दी गई। सुनील बिहटा के रहने वाले हैं जिनका अंतिम संस्कार मनेर के हल्दी छपरा संगम घाट पर किया जाएगा। 
पटना एयरपोर्ट पर बुधवार की शाम शहीद सुनील कुमार का शव पहुंचा। बिहटा के सिकरिया पंचायत के रहने वाले सुनील कुमार भारतीय सेना की 16 बिहार रेजीमेंट के उन शहीद जवानों में शामिल हैं जिन्होंने लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना का मुकाबला करते हुए अपनी शहादत दी।
1/6 पटना एयरपोर्ट पर बुधवार की शाम शहीद सुनील कुमार का शव पहुंचा। बिहटा के सिकरिया पंचायत के रहने वाले सुनील कुमार भारतीय सेना की 16 बिहार रेजीमेंट के उन शहीद जवानों में शामिल हैं जिन्होंने लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना का मुकाबला करते हुए अपनी शहादत दी।
पटना एयरपोर्ट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद सुनील कुमार को अंतिम विदाई दी गई। बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, राज्य सरकार के मंत्री नंद किशोर यादव, पूर्व सीएम जीतनराम मांझी, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, जगदनांद सिंह, पप्पू यादव समेत अन्य नेताओं और अधिकारियों ने शहीद को पुष्पांजलि अर्पित की।
2/6 पटना एयरपोर्ट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद सुनील कुमार को अंतिम विदाई दी गई। बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, राज्य सरकार के मंत्री नंद किशोर यादव, पूर्व सीएम जीतनराम मांझी, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, जगदनांद सिंह, पप्पू यादव समेत अन्य नेताओं और अधिकारियों ने शहीद को पुष्पांजलि अर्पित की।
बिहाट के रहने वाले शहीद सुनील कुमार का अंतिम संस्कार मनेर के हल्दी छपरा संगम घाट पर होगा। पटना एयरपोर्ट पर शहीद के पार्थिव शरीर को रिसीव करने पहुंचे बेटे के साथ परिवार के सदस्य।
3/6 बिहाट के रहने वाले शहीद सुनील कुमार का अंतिम संस्कार मनेर के हल्दी छपरा संगम घाट पर होगा। पटना एयरपोर्ट पर शहीद के पार्थिव शरीर को रिसीव करने पहुंचे बेटे के साथ परिवार के सदस्य।
पटना एयरपोर्ट पर शहीद सुनील कुमार के अंतिम दर्शन के लिए कतारबद्ध नेता और अधिकारी। फ्लाइट के आने में कुछ देरी हुई जिस दौरान सभी लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए इंतजार करते दिखे।
4/6 पटना एयरपोर्ट पर शहीद सुनील कुमार के अंतिम दर्शन के लिए कतारबद्ध नेता और अधिकारी। फ्लाइट के आने में कुछ देरी हुई जिस दौरान सभी लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए इंतजार करते दिखे।
गलवान घाटी में बिहार के छह लाल शहीद हुए हैं। शहादत देने वाले सैनिकों में पटना जिले के बिहटा के तारानगर सिगड़ी निवासी हवलदार सुनील कुमार के अलावा भोजपुर के चंदन कुमार, सहरसा के कुंदन कुमार, समस्तीपुर के मोहिउद्दीननगर थाने की रासपुर पतसिया पश्चिम पंचायत के सुलतानपुर पूरब गांव निवासी अमन कुमार और वैशाली के सिपाही जय किशोर सिंह हैं। झारखंड के साहेबगंज के कुंदन कुमार ओझा का मूल घर बिहार के आरा में ही है।
5/6 गलवान घाटी में बिहार के छह लाल शहीद हुए हैं। शहादत देने वाले सैनिकों में पटना जिले के बिहटा के तारानगर सिगड़ी निवासी हवलदार सुनील कुमार के अलावा भोजपुर के चंदन कुमार, सहरसा के कुंदन कुमार, समस्तीपुर के मोहिउद्दीननगर थाने की रासपुर पतसिया पश्चिम पंचायत के सुलतानपुर पूरब गांव निवासी अमन कुमार और वैशाली के सिपाही जय किशोर सिंह हैं। झारखंड के साहेबगंज के कुंदन कुमार ओझा का मूल घर बिहार के आरा में ही है।
पटना एयरपोर्ट पर सलामी और श्रद्धा सुमन के बाद शहीद सुनील कुमार का शव बिहटा के लिए रवाना हो गया। 
6/6 पटना एयरपोर्ट पर सलामी और श्रद्धा सुमन के बाद शहीद सुनील कुमार का शव बिहटा के लिए रवाना हो गया।