ट्रैफिक सिग्नल लगाने पर आएगा 35 करोड़ का खर्चा, प्रस्ताव को मंजूरी का इंतजार

Smart News Team, Last updated: 06/03/2021 04:16 PM IST
  • राजधानी को जाम से निजात दिलाने को प्रशासन भी अपने स्तर पर भरसक प्रयास कर रहे हैं और आए दिन लोगों को भी जागरूक किया जाता है. शहर में ट्रैफिक सिग्नल दुरुस्त कराने का प्रपोजल स्वीकृति के लिए भेजा जा चुका है और स्ट्रीट लाइट लगाने का काम तेजी से किया जा रहा है.
प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. राजधानी में बेली रोड में लोहिया पथ का निर्माण किया जा रहा है. इसके चलते 11 ट्रैफिक सिग्नल को हटा दिया गया है. इन्हें दिसंबर तक दुरुस्त कराया जाना है और इस काम के लिए 35 करोड़ रुपए खर्च होंगे. यह बात गत दिनों राजद सदस्य विजय कुमार सिंह की ओर से किए सवालों के जवाब में डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने कही.

उन्होंने स्वीकार किया कि पटना में 23 करोड़ से भी ज्यादा की रकम खर्च कर 80 के करीब ट्रैफिक सिग्नल लगाए गए थे. जिनमें से 50 से ज्यादा सिग्नल दिसंबर 2018 से एग्रीमेंट खत्म होने के कारण बंद पड़े हैं. इस समय शहर में 22 सिग्नल जो चल रहे हैं उनका एग्रीमेंट भी अगले दिसंबर तक है. 

सीआईडी ने जारी किए आंकड़े, लॉकडाउन में आर्थिक तंगी से महिला उत्पीड़न के मामले बढ़े

उन्होंने बताया कि इस संबंध में राजधानी पटना की यातायात व्यवस्था सुचारु करने के लिए बुडको ने 35.63 करोड़ रुपए की लागत से प्रस्ताव तैयार कर सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा है. जिसे मंजूरी मिलना बाकी है.  प्रस्ताव के मंजूर होते ही शहर में ट्रैफिक जाम से लोगों को निजात दिलाई जाएगी. प्रशासन की ओर से भी लोगों को समय-समय पर अभियान चलाकर लोगों को ट्रैफिक नियमों के प्रति अवेयर किया जाता है ताकि दुर्घटनाओं की दर कम हो इसके साथ ही स्ट्रीट लाइट लगाने का काम भी सभी निकायों में चल रहा है 83 में काम पूरा हो गया है और 24 में काम किया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें