गांधी सेतु के समानांतर बनेगा 14.5 किलोमीटर लंबा फोरलेन, अप्रैल से होगा काम शुरू

Smart News Team, Last updated: Wed, 10th Mar 2021, 12:01 PM IST
  • पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने वाले गांधी सेतु के समानांतर फोरलेन का काम अगले महीने से शुरू हो जाएगा. पर्यावरण और अन्य स्वीकृतियों में देरी के कारण अभी काम शुरू होने की तारीख तय नहीं हो पाई है. जल्द ही मंजूरी मिलने के बाद तारीख की भी घोषणा की जाएगी.
फाइल फोटो

पटना. महात्मा गांधी सेतु राजधानी पटना को उत्तरी बिहार से जोड़ता है. अब गंगा नदी पर इसके समानांतर फोरलेन पुल बनाए जाने की तैयारी चल रही है. 14.5 किलोमीटर लंबे इस फोरलेन का काम अप्रैल से शुरू होने की संभावना है. यह जानकारी राज्यसभा में इस बारे में पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय पथ परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी ने दी.

उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी सेतु के समानांतर बनने वाले फोरलेन पुल पर 2926.42 करोड़ रुपए का फंड मंजूर कर लिया गया है. उल्लेखनीय है कि इस परियोजना का शिलान्यास पीएम ने गत वर्ष किया था. उन्होंने कहा कि पर्यावरण और अन्य स्वीकृतियों में देरी के कारण अभी ठेकेदारों के काम शुरू करने के लिए तारीख तय नहीं हो पाई है. मार्च माह में तमाम कागजी कार्य पूरा हो जाने की पूरी उम्मीद है, उसके बाद ही काम शुरू होने की तारीख की घोषणा कर दी जाएगी.

पटना निगम प्रदूषण कंट्रोल और योजनाओं पर काम को विशेषज्ञों के अनुभव का लेगा फायदा

नितिन गडकरी ने कहा कि अप्रैल 2021 में फोरलेन पुल का काम शुरू होने की उम्मीद है. गौर हो कि इस पुल के निर्माण से उत्तर बिहार की तरफ जाने वाले लोगों को जाम की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा. उत्तर बिहार जाने वाली गाड़ियों को अकसर जाम के कारण अपने गंतव्य तक पहुंचने में देरी हो जाती है और घंटों जाम में जूझना पड़ता था. 14.5 किलोमीटर लंबा फोरलेन बनने से लोगों को इस समस्या से राहत मिलेगी और यातायात व्यवस्था सुचारू हो जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें