BJP डिजिटल विंग ने कसी कमर, ‘बिहार में का बा' का जवाब ‘बिहार में ई बा’ गाने से

Smart News Team, Last updated: 11/10/2020 08:17 AM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव के प्रचार के लिए बीजेपी जनता को थीम सॉन्ग बिहार में ई बा से बताएगी नीतीश सरकार की उपलब्धियां. इसे विपक्ष के 'बिहार में का बा' का जवाब माना जा रहा है.
विधानसभा चुनाव: बिहार में का बा का जवाब देने के लिए BJP जल्द लाएगी बिहार में ई बा गाना

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं. एक ओर जहां सभी पार्टियां अपने प्रत्याशियों की लिस्ट जारी कारी कर रही हैं वहीं अब प्रचार का सिलसिला भी शुरु होगा. पहले के चुनाव प्रचार में जहां तरह-तरह के नारों का अपना ही क्रेज था वहीं अब लगभग हर पार्टी अपना एक थीम सॉन्ग लॉन्च करती है. बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी की डिजिटल विंग बिहार विधानसभा चुनाव के लिए जल्द ही गानों का एक कलेक्शन जारी करने की तैयारी कर रही है. 

जानकारी के मुताबिक बीजेपी इन गानों के जरिए पार्टी 'बिहार में का बा (बिहार में क्या है)' प्रश्न का जवाब 'बिहार में ई बा (बिहार में यह है)' से देगी. इन गानों में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली बिहार सरकार के उपलब्धियों का उल्लेख किया जाएगा. इस विधानसभा चुनाव के लिए एनडीए गठबंधन में बीजेपी के साथ नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू भी सहभागी है.

रामविलास पासवान: DSP से लेकर देश के मजबूत नेता बनने का सफर

गौरतलब है कि बीजेपी अपने चुनावी अभियान में आकर्षक धुन और आसान गीत के इस्तेमाल के साथ मतदाताओं तक पहुंचने के लिए जानी जाती है. उसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए पार्टी बिहार में बोले जानी वाली कई भाषाओं और बोलियों के माध्यम से मतदाताओं तक पहुंचने के लिए तैयार है.इन गानों में मल्टी मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल, पुल का निर्माण और अन्य विकास कार्यों का जिक्र होगा. 28 अक्टूबर को होने वाले पहले चरण के मतदान से पहले इन गानों को रिलीज कर दिया जाएगा. इस मामले की जानकारी रखने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि हम बिहार के लोगों को मैथिली और भोजपुरी जैसी भाषाओं में गीतों के माध्यम से यह बताने की कोशिश करेंगे कि 'बिहार में ई बा (बिहार में यह है।)'

पटना यूनिवर्सिटी में परीक्षा के दौरान एक छात्र कोरोना संक्रमित मिला, मचा हड़कंप

दरअसल सितंबर के महीने में बॉलीवुड एक्टर मनोज वाजपेयी और डायरेक्टर अनुभव सिन्हा ने 'बंबई में का बा (मुंबई में क्या है?)' टाइटल से एक भोजपुरी रैप सॉन्ग लॉन्च किया था. इस गाने में प्रवासी श्रमिकों की परेशानियों को दिखाया गया था. हालांकि इस रैप सॉन्ग में बिहार का खास जिक्र नहीं किया गया था. लेकिन इसे राज्य के खराब इंफ्रास्ट्रक्चर, तमाम अन्य सुविधायों की कमी और आजीविका के लिए न के बराबर अवसरों पर एक टिप्पणी की तरह देखा गया. इस मामले की जानकारी रखने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि हम विपक्ष के इस नकली कथन (बिहार में का बा) का मुकाबला करने के लिए राज्य में किए गए विकास कार्यों को बताएंगे. लोगों तक पहुंचने के लिए कई अन्य माध्यमों के साथ ही गानों का इस्तेमाल भी किया जाएगा. इसमें एक गाना बीजेपी के सदस्य और भोजपुरी के लोकप्रिय अभिनेता निरहुआ का भी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें