पटना: बिहार के स्कूलों में कोरोना आइसोलेशन सेंटर बनाने की तैयारी हुई शुरू

Smart News Team, Last updated: 13/09/2020 11:59 AM IST
  • बिहार के स्कूलों में आइसोलेशन सेंटर बनाने की तैयारी शुरू हो चुकी है. स्कूल खुलने के बाद अगर किसी छात्र, अध्यापक और स्टाफ में कोरोना के लक्षण पाए जाते है तो तुरंत उसे आइसोलेशन सेंटर भेजा जाएगा. बंद स्कूलों को सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के एसओपी में भेजे गए निर्देश के अनुसार ही खोला जाएगा.
स्कूलों में आइसोलेशन सेंटर बनाने की तैयारी.

पटना. बिहार के स्कूलों में आइसोलेशन सेंटर बनाने की तैयारी की जा रही है. यह इसलिए किया जा रहा क्योंकि कोरोना वायरस को मद्देनजर रखते हुए स्कूल मार्च के आखिर हफ्ते से बंद है पर अब इन्हें खोलने की तैयारी चल रही है. स्कूल खुलने के बाद अगर किसी छात्र, अध्यापक और स्टाफ में अगर कोरोना वायरस के लक्षण दिखते है तो उन्हें तुरंत आइसोलेशन सेंटर में रखा जायेगा.

आईसोलेश सेंटर में भेजने के तुरंत बाद स्कूल प्रशासन बिहार सरकार के जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर पर फोन करेगा. जब तक डाॅक्टर जांच नहीं कर लेते तब तक आइशोलेशन सेंटर में रहने वाले व्यक्ति का पूरा मुंह कवर रहेगा. इसके लिए भी स्कूल के प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है. 

जानकारी के लिए बता दें कि पहले ही केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) और इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सैकेण्डरी एजुकेशन( आईसीएसई) स्कूलों को एसओपी भेज चुका है. जिसमें कि वो सभी निर्देश है जिसका कि स्कूलों को पालन करना है. इसमें स्कूल के कर्मी ,अध्यापक और छात्रों के लिए अलग से नियम भी बताए गए हैं. 

PM मोदी की बिहार को 901 करोड़ रुपए की सौगात, गैस से जुड़ी परियोजनाएं होंगी शुरू

स्कूल प्रशासन को भेजी एसओपी में कहा गया कि अगर क्लास छोटी हो तो बच्चों को ग्राउंड या बरामदे में पढ़ाया जाए. इस दौरान छात्रों के बीच कम से कम दो मीटर की दूरी होनी चाहिए है. यह इसलिए किया जा रहा है ताकि बच्चे के गलती से मास्क उतरने पर भी वो अपने साथियों के संपर्क में ना आए.  

विधानसभा चुनाव की तैयारियां की समीक्षा करने कल चुनाव आयोग की टीम बिहार आएगी

स्कूलों को जिन बातों को ध्यान रखना है उनमें ढंका हुआ डस्टबीन रखना, स्टाफ रूम में टीचर एक ही जगह नहीं बैठे, मास्क का फिर से इस्तेमाल करने के लिए उसे अच्छे से धोना, हाथ दोने के लिए स्कूलों में जगह-जगह इतंजाम हो. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें