बिहार का 'देवघर' है मुजफ्फरपुर का 'बाबा गरीबनाथ मंदिर', यहां की अनेक मान्यता है

Smart News Team, Last updated: Fri, 2nd Jul 2021, 6:52 AM IST
  • Baba Garibnath Mandir: देवघर की तर्ज पर बाबा गरीबनाथ धाम में भी डाक बम गंगा जल लेकर महज 12 घंटे में बाबा का जलाभिषेक करने की परंपरा रही है.
Baba Garibnath Mandir: बिहार का 'देवघर' है मुजफ्फरपुर का 'बाबा गरीबनाथ मंदिर' आस्था और श्रद्धा का प्रतीक है.

Baba Garibnath Mandir: बिहार के मुजफ्फरपुर शहर में स्थित 'बाबा गरीबनाथ मंदिर' को राज्य का 'देवघर' भी कहा जाता है. यह मंदिर आस्था और श्रद्धा का प्रतीक है. मान्यता है कि इस मंदिर में भक्ति-भाव से मांगी गई भक्तों की सभी मुरादें पूरी होती हैं. देश के कोने-कोने से श्रद्धालु इस मंदिर में अपनी मुरादें लेकर जाते हैं. यह आने वाली सभी भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं, इसलिए बाबा गरीबनाथ मंदिर 'मनोकामनालिंग' के नाम से भी मशहूर है.

सावन के महीने में इस मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं. देवघर की तर्ज पर बाबा गरीबनाथ धाम में भी डाक बम गंगा जल लेकर महज 12 घंटे में बाबा का जलाभिषेक करने की परंपरा रही है. हर साल कांवड़ियों की संख्या में 10-15 फीसदी बढ़ोतरी हो रही है.

 

Baba Garibnath Mandir: इस स्थान पर पहले घना जंगल हुआ करता था. इस जंगल के बीच सात पीपल के पेड़ थे. (Credit: Garibnathdham Official Site)

'बाबा गरीबनाथ मंदिर' ऐताहिसक मान्यता: इस मंदिर का इतिहास 300 साल पुराना है. मान्यता है कि इस स्थान पर पहले घना जंगल हुआ करता था. इस जंगल के बीच सात पीपल के पेड़ थे. पेड़ की कटाई के समय अचनाक खून जैसा लाल पदार्थ निकलने लगा और जब इस जगह की खुदाई की गई तो यहां से एक विशालकाय शिवलिंग मिला. लोग बताते हैं कि इसके बाद जमीन मालिक को सपने में भगवान शिव ने दर्शन दिए थे. तब से ही यहां पर बाबा भोलेनाथ की पूजा की जाने लगी.

 

इस तरह पड़ा था 'बाबा गरीबनाथ मंदिर' का नाम: लोगों का मानना है कि एक बेहद ही गरीब व्यक्ति था, उसके एक बेटी थी. बेटी की शादी के लिए घर में कुछ भी नहीं था. एक दिन व्यक्ति को सपने में बाबा के दर्शन हुए. जिसके बाद शादी के सभी सामानों की आपूर्ति अपने आप हो गई. तभी से इस धाम का नाम 'बाबा गरीबनाथ' पड़ गया.

 

Baba Garibnath Mandir: इस मंदिर का इतिहास 300 साल पुराना है.

दिल्ली से मुजफ्फरपुर: दिल्ली से मुजफ्फरपुर की दूरी करीब 1,083 किलोमीटर है. आप बस, ट्रेन या फिर फ्लाइट से मुजफ्फरपुर तक का सफर तय कर सकते हैं. बस के रास्ते दिल्ली से मुजफ्फरपुर पहुंचने में केवल17 घंटे 27 मिनट का समय लगता है. वहीं अगर आप ट्रेन से सफर करना चाहते हैं तो इसमें केवल 20 घंटे का समय लगेगा. फ्लाइट से केवल डेढ़ घंटे में आप दिल्ली से मुजफ्फरपुर पहुंच सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें