पटना

सिविल कोर्ट में शरीर का तापमान मापो...पैसा लेकर फ्लैट न देने वाले बिल्डर को सजा

Smart News Team, Last updated: 03/06/2020 03:07 PM IST
  • पटना में एक ग्राहक से पैसा लेकर फ्लैट न देने वाले बिल्डर को कोर्ट ने ऐसी अनोखी सजा सुनाई, जिसकी वजह से वह अब कोर्ट में ही लोगों के शरीर का तापमान मापने का काम करेगा। दरअसल, पटना हाईकोर्ट से कोरोना में सेवा करने की सजा पाए पटना के बिल्डर को सिविल कोर्ट में ही लोगों के तापमान नापने की ड्यूटी दी गई है।
कोर्ट की प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना में एक ग्राहक से पैसा लेकर फ्लैट न देने वाले बिल्डर को कोर्ट ने ऐसी अनोखी सजा सुनाई, जिसकी वजह से वह अब कोर्ट में ही लोगों के शरीर का तापमान मापने का काम करेगा। दरअसल, पटना हाईकोर्ट से कोरोना में सेवा करने की सजा पाए पटना के बिल्डर को सिविल कोर्ट में ही लोगों के तापमान नापने की ड्यूटी दी गई है। यह ड्यूटी सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी ने दी है।

उन्होंने बताया कि हाईकोर्ट से सजा पाए बिल्डर खालिद राशिद को पहले प्रतिरक्षण इकाई में ड्यूटी लगाने की बात कही गई थी। लेकिन शुक्रवार को यह निर्णय लिया गया कि उसे हाईकोर्ट में ही गेट पर लेजर थर्मल थर्मोमीटर से आने-जाने वाले लोगों के शरीर का तापमान मापने की ड्यूटी दी गई है। यह ड्यूटी वह शनिवार से करेगा।

ट्रायल के लिए उसे वहां शुक्रवार को भेजा गया था। एक ग्राहक को पैसा लेने के बाद भी फ्लैट आवंटन नहीं करने के बाद कोर्ट ने जमानत देने में अजीब शर्त रखी थी। बिल्डर को तीन महीने तक कोरोना संक्रमण के दौर में लोगों की मदद करने की सजा उसे दी थी। इसके बाद उसने सिविल सर्जन कार्यालय में सजा की कॉपी के साथ रिपोर्ट की थी।

अन्य खबरें