चैत्र नवरात्रि 2021: इस बार घोड़े पर आएंगी मां दुर्गा, बन रहे ये शुभ संयोग

Smart News Team, Last updated: Sun, 4th Apr 2021, 11:59 PM IST
  • चैत्र नवरात्रि 13 अप्रैल से शुरू हो रही है. 9 दिन श्रद्धालु मां दुर्गा की पूजा विधि-विधान से करते हैं. इसके अलावा कलश स्थापना करने से घर में सुख समृद्धि आती है. कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 5 बजकर 43 मिनट से सुबह 8 बजकर 43 मिनट तक होगा.
13 अप्रैल से चैत्र नवरात्रि 2021 शुरू हो रही है. प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. चैत्र नवरात्रि 2021 13 अप्रैल मंगलवार से शुरू होगी. इस दौरान 9 दिन तक पूरे विधि-विधान के साथ मां दुर्गा की पूजा की जाएगी. कहा जा रहा है कि इस बार की नवरात्रि में मां दुर्गा भक्तों को घोड़े पर सवार होकर आएंगी. मिली जानकारी के अनुसार, 13 अप्रैल को कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 5 बजकर 43 मिनट से सुबह 8 बजकर 43 मिनट तक होगा. 

इस चैत्र नवरात्रि में मां दुर्गा के आगमन से राजनीति में उथल-पुथल होगी और माता की विदाई नर वाहन पर होगी. नवरात्रि में माता की कृपा पाने के लिए दुर्गा सप्तसती, दुर्गा चालीसा, बीज मंत्र का जाप और भगवती पुराठ का पाठ करने से सुख और समृद्धि की प्राप्ति होगी. नवरात्रि में कलश स्थापना करने से घर में सुख और समृद्धि आती है.

Bihar Board 10th Result 2021: 5 अप्रैल को इस टाइम जारी होगा रिजल्ट, ऐसे करें चेक

नवरात्रि के बारे में आचार्य पीके युग ने कहा कि सनातन धर्म में वासंतिक नवरात्रि का बड़ा महत्व है. वहीं कर्मकांड और ज्योतिर्विद आचार्य राकेश झा ने कहा कि 13 अप्रैल चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को वासंतिक नवरात्रि अश्विनी नक्षत्र और सर्वार्थ अमृत सिद्धि योग में शुरू होकर 22 अप्रैल गुरुवार को मघा नक्षत्र और सिद्धि योग में विजयादशमी के साथ संपन्न होगा.

BPSC ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए दो एग्जाम की डेट की स्थगित

इस बार चैत्र नवरात्रि में कई शुभ योग बन रहे हैं. 13 अप्रैल को नवरात्रि शुरू हो रही है और उसी दिन हिन्दू नव वर्ष विक्रम संवत् 2078 भी शुरू होगा. इसके अलावा नवरात्रि में एक बार चार रवियोग, एक सर्वार्थ सिद्ध योग का संयोग बन रहा है. ऐसे शुभ संयोग में नवरात्रि पर देवी उपासना करने से विशेष फल की प्राप्ति होगी. ये नवरात्रि धन और धर्म की वृद्धि के लिए खास होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें