छठ पूजा के भोर अर्घ्य के बाद किया जाएगा पारण, जानें व्रत खोलने के लिए क्या खाएं क्या नहीं

Somya Sri, Last updated: Wed, 10th Nov 2021, 2:51 PM IST
  • आज डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद कल गुरुवार को उगते सुर्य को उषा अर्घ्य या भोर का अर्घ्य दिया जाएगा. 11 नवंबर को उगते सूर्य को भोर का अर्घ्य देने के बाद छठ पूजा का समापन हो जाएगा. अर्घ्य देने के बाद व्रती पारण कर 36 घंटे का निर्जला व्रत खोलेगी. इस दौरान ये जानना बेहद जरूरी हो जाता है कि पारण में क्या खाएं और क्या नहीं.
छठ पूजा के भोर अर्घ्य के बाद किया जाएगा पारण, जानें व्रत खोलने के लिए क्या खाएं क्या नहीं

हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से षष्ठी तिथि तक महापर्व छठ का त्योहार मनाया जाता है. वैसे तो इस लोक पर्व को खास कर बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में मनाया जाता है. लेकिन आज देशभर में छठ पूजा का त्योहार मनाया जाने लगा है. इसलिए इसे अब ग्लोबल पर्व भी कहा जाता है. आज डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद कल गुरुवार को उगते सुर्य को उषा अर्घ्य या भोर का अर्घ्य दिया जाएगा. 11 नवंबर को उगते सूर्य को भोर का अर्घ्य देने के बाद छठ पूजा का समापन हो जाएगा. अर्घ्य देने के बाद व्रती पारण कर 36 घंटे का निर्जला व्रत खोलेगी. इस दौरान ये जानना बेहद जरूरी हो जाता है कि पारण में क्या खाएं और क्या नहीं.

बता दें कि 11 नवंबर 2021 को सुबह 6:32 पर उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा. जिसके बाद छठ व्रती पानी पीकर अपना व्रत खोल सकेंगे. इसके बाद वे प्रसाद ग्रहण कर सकेंगे. इस दौरान व्रती जो 36 घंटे बाद अपना व्रत तोड़ेंगी उन्हें इस बात का ध्यान रखना होगा कि वे एक साथ खाना नहीं खाए. इस दौरान उन्हें कोशिश करनी चाहिए कि पहले वह नारियल पानी या नींबू पानी का सेवन करें. उसके बाद ही अन्न का सेवन करें.

Chhath Puja 2021: छठी मईया बरत तोहार और सात घोड़े के रथ पर सवार जैसे शुभ संदेश SMS अपनों को भेजें

बताया जा रहा है कि छठ व्रती 36 घंटे बाद जब अपना व्रत तोड़ें तो उस दौरान उन्हें मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए. हल्के तेल का भोजन ग्रहण करना चाहिए. इससे वे तरोताजा महसूस करेंगी साथ ही उन्हें आलस भी नहीं आएगा. बता दें कि छठ व्रती 36 घंटे तक लगातार फास्ट पर रहती हैं. इस वजह से व्रत तोड़ने के दौरान मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए. इससे उनकी तबीयत बिगड़ सकती है. कोशिश करना चाहिए कि पारण के दौरान वे कुछ हल्का खाना खाएं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें