Chhath puja 2021: छठ पूजा कब है? जानें नहाय खाय,सूर्य पूजन एवं अर्घ्य का सही समय

Priya Gupta, Last updated: Wed, 29th Sep 2021, 4:54 PM IST
  • कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी को मनाया जाने वाला यह महापर्व पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में छठ पूजा पर एक अलग ही धूम देखने को मिलती है.
जानें नहाय खाय,सूर्य पूजन एवं अर्घ्य

छठ पूजा के इस महापर्व की शुरुआत 8 नवंबर से होगी. ये महापर्व का पहला दिन नहाय खाय से शुरू होता है. हिन्दी पंचाग के अनुसार, छठ पूजा का खरना कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को होता है. नहाय खाय के बाद खरना होता है जिसे लोहंडा भी कहा जाता है. खरना के दिन छठ पूजा के लिए प्रसाद बनाया जाता है. खरना के पूरे दिन तक उपवास रखा जाता है और फिर शाम में प्रसाद के रूप में खीर खाया जाता है.

 नहाए खाए के साथ शुरू होने वाला छठ पूजा का पहला दिन 8 नवंबर, 2021 को है. छठ का दूसरा दिन खरना 9 नवंबर को है. छठ पूजा में खरना का विशेष महत्व होता है. इस दिन व्रत रखा जाता है और रात में खीर का प्रसाद ग्रहंण किया जाता है. छठ का तीसरा दिन छठ पूजा या संध्या अर्घ्य 10 नवंबर 2021 को है. 8 नवंबर 2021 को शुरू होकर 11 नवंबर को सुबह के अर्घ्य के साथ 8:25 पर समाप्त होगा.

Diwali 2021: धनतेरस पर इन चीजों का खरीदना माना जाता है शुभ, घर में आती है समृद्धि

आइए जानते हैं छठ पूजा पर सूर्योदय और सूर्यास्त का समय

सूर्योदय समय – सुबह 6:40 सूर्यास्त समय – शाम 5:30

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी को मनाया जाने वाला यह महापर्व पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में छठ पूजा पर एक अलग ही धूम देखने को मिलती है. संतान की सुख, समृद्धि और दीर्घायु की कामना के लिए इस दिन सूर्य देव और छठी मइया की पूजा की जाती है. इस व्रत में सुबह और शाम के अर्घ्य देने की परंपरा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें