जल्द शुरू होगा पटना रिंग रोड का निर्माण, जमीन अधिग्रहण का कार्य शुरू

Smart News Team, Last updated: Mon, 11th Jan 2021, 2:05 PM IST
  • शेरपुर से दिघवारा तक रैयती किसानों से आवेदन लेने की प्रक्रिया चल रही है. पटना जिला प्रशासन जमीन का अधिग्रहण कर एनएचआई को देगा. उसके बाद निर्माण शुरू किया जाएगा.
पटना रिंग रोड की 14 किमी. रोड के भूमि अधिग्रहण का खर्च केन्द्र सरकार उठाएगी. प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. पटना रिंग रोड के निर्माण के लिए जमीन अधिग्रहण का काम शुरू कर दिया गया है. अब जल्द ही पटना रिंग रोड का निर्माण भी शुरू हो जाएगा. गौर हो कि पटना में 100 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जाना है. जिला प्रशासन के मुताबिक रिंग रोड निर्माण के लिए 350 एकड़ जमीन का अधिग्रहण पटना, वैशाली और सारण जिले में होगा. 100 एकड़ जमीन अधिग्रहण करने के लिए पहले फेज की शुरुआत कर दी गई है. इसके तहत शेरपुर से दिघवारा के बीच के रैयती किसानों से आवेदन लेने की प्रक्रिया चल रही है.

रिंग रोड की लंबाई 137 किलोमीटर है. इस रोड की चौड़ाई चार से छह लेन की होगी. इसका कार्य गंगा नदी पर पुल बनने के बाद कंप्लीट होगा. रिंग रोड नए बन रहे कच्ची दरगाह-बिदुपुर गंगा पुल से जुड़ेगा. गौर हो कि पटना रिंग रोड का निर्माण चार पैकेज में होगा. जिसके तहत 350 एकड़ जमीन अधिग्रहण वैशाली, सारण और पटना से होगा.

पटना: ग्रामीणों ने थाने का किया घेराव, हाईवे पर की आगजनी, जाम और यातायात बाधित

शेरपुर से दिघवारा इलाके में सड़क निर्माण के लिए किसानों को खेती वाली जमीन का चार गुना मुआवजा दिया जाएगा जबकि शहरी क्षेत्र की बसावट वाली जमीन का दोगुना मुआवजा दिया जाएगा. इस जमीन को अधिग्रहित कर पटना प्रशासन नेशनल हाईवे अथॉरिटी को देगा. इसके बाद एनएचआई द्वारा निर्माण शुरू कर दिया जाएगा. रिंग रोड के बनने से लोगों को काफी सहूलियत होगी, यातायात व्यवस्था काफी सुगम हो जाएगी और लोगों को जाम से निजात मिल जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें