पटना: डेंगू होता जा रहा खतरनाक, 17 मामले आने से मरीजों की गिनती हुई 242

Smart News Team, Last updated: 19/11/2020 12:32 PM IST
  • डेंगू के मरीज सामने आने का सिलसिला लगातार जारी है. पिछले 24 घंटे में राजधानी में 17 केस सामने आए हैं. डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए लोगों को अपनी सुरक्षा के प्रति सजग हो जाना चाहिए और बचाव के उपाय अपनाकर पूरी सावधानी बरतनी चाहिए.
डेंगू के बढ़ते मामलों के चलते पटना के लोगों को सतर्क हो जाना चाहिए

पटना. डेंगू के केस दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं. मंगलवार को पटना में 225 लोगों में संक्रमण था, जो 24 घंटे में ही बुधवार को 242 तक पहुंच गया है. डेंगू के मामले शहर में लगातार बढ़ते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटों के दौरान 17 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है. जिस कारण राजधानी में अब डेंगू की चपेट में आने वाले लोगों की गिनती 242 तक पहुंच गई है जबकि प्रदेश में डेंगु के कुल मामलों की गिनती 348 हो गई है.

कोरोना काल में डेंगू लोगों के लिए काफी खतरनाक हो सकता है. ऐसे में सुरक्षा को लेकर लोगों को अपनी सेहत के प्रति सजग रहना होगा. इस संबंध में पटना मेडिकल कॉलेज के कोरोना नोडल अफसर डॉ. पीएन झा ने बताया कि कोरोना और डेंगू दोनों से बचाव का एकमात्र तरीका सावधानी है. अगर मच्छरों से बचा जाए और सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क को लेकर गंभीरता से काम किया जाए तो खतरा कम होगा. पटना में मामले बढ़ रहे हैं. जब तक ठंड तेज नहीं होगी, तब तक इस पर नियंत्रण मुश्किल है. ऐसे में बचाव करें.

19 नवंबर: पटना रांची जयपुर इंदौर मुजफ्फरपुर में आज वायु प्रदूषण एक्यूआई लेवल

उन्होंने बताया कि डेंगू से बचने के दो ही उपाय हैं. एडीज मच्छरों को पैदा होने से रोकना होगा और एडीज मच्छरों के काटने से बचाव करना. एडीज मच्छर पैदा ना हो इसके लिए घर या ऑफिस के आसपास पानी जमा न होने दें, गड्ढों को मिट्टी से भर दें, रुकी हुई नालियों को साफ करें. इसके तीव्र लक्षण कभी-कभी कुछ समय बाद देखे या महसूस किए जाते हैं, हालांकि यदि इनकी समय पर पहचान कर ली जाये तब इससे बचाव या उपचार करने में मदद भी मिल सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें