पटना : तापमान में उतार चढ़ाव लोगों की सेहत कर रहा खराब, खानपान का रखें ध्यान

Smart News Team, Last updated: 17/12/2020 11:52 AM IST
  • राजधानी में मौसम में लगातार बदलाव हो रहा है, जिससे अस्पतालों में बीमार होने वाले लोगों की लाइन लगने लग गई है. चिकित्सकों की ओर से ठंड से बचाव के लिए सावधानियां बरतनें के लिए कहा गया है
पटना में तापमान में लगातार उतार चढ़ाव हो रहा है

पटना. राजधानी में पिछले कुछ दिनों से तापमान में उतार चढ़ाव लोगों की सेहत को खराब कर रहा है. मौसम बदलने से कभी धूप, कभी बूंदाबांदी और कोहरे के चलते सर्दी-खांसी, बुखार और दस्त की शिकायत लेकर मरीजों का अस्पताल पहुंचने का सिलसिला बढ़ गया है. इसके अलावा सांस, अस्थमा और बीपी, मधुमेह और हृदय रोगियों के लिए तापमान में हो रहा उतार चढ़ाव खतरनाक साबित हो रहा है.

चिकित्सकों के अनुसार ठंड और मौसमी बदलाव से होने वाली बीमारियों से बचाव के लिए खानपान पर भी ध्यान देने की जरूरत है, आजकल तला-भुना ज्यादा खाया जाता है. इससे परहेज करें. खाने में नमक की मात्रा कम करना, मांस-मदिरा, धूम्रपान समेत अन्य नशे से भी खतरा बढ़ता है. पीएमसीएच के डॉ. राजीव कुमार सिंह के मुताबिक आजकल ज्यादातर लोग सर्दी-खांसी, बुखार व बदन दर्द की शिकायत लेकर आ रहे हैं. इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान की इमरजेंसी विगत कई दिनों से फुल चल रही है.

बिहार के पूर्व सीएम और हम प्रमुख जीतन राम मांझी कोरोना पॉजिटिव

मौसम विशेषज्ञों की मानें तो आने वाले दिनों में ठंड और बढ़ेगी और शीतलहर से मौसम में बदलाव जारी रहेगा. दिन में हाड कंपाने वाली सर्दी पड़ेगी. स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक ठंड और उस पर तापांतर हृदय, बीपी और मधुमेह रोगियों के लिए बहुत खतरनाक है. ऐसे लोग सुबह से शाम तक धूप होने तक ही बाहर रहें और जूते से लेकर गर्म कैप तक जरूर पहनें. ठंड से बचाव तमाम खतरों से बचने का उपाय है. लोगों को चाहिए कि ठंड और बीमारियों से बचाव के लिए सुबह-शाम गर्म कपड़े व जूते पहन कर ही बाहर निकलें. कान-नाक ढंक कर रखें, गर्म पानी और भोजन ही करें, ठंडी चीजों का इस्तेमाल करने से बचें, कोरोना काल में सर्दी-खांसी व बुखार होने पर खुद दवा लेने के बजाय डॉक्टरों से परामर्श करें. इन तमाम सावधानियों को ध्यान में रखकर ही ठंड से बचा जा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें