पटना में कोरोना से चार लोगों की मौत, 256 नए संक्रमित मिले, एक्टिव केस हुए 2550

Smart News Team, Last updated: Fri, 23rd Oct 2020, 2:48 PM IST
  • कोरोना के मामले लगातार बढ़ने का सिलसिला जारी है, इसके साथ ही लोगों की मौत होना भी नहीं रूक रहा है. त्योहारों के सीजन में इसके फिर से तेजी से फैलने के आसार हैं, इसलिए लोगों को सतर्क रहकर कोरोना गाइडलाइन का गंभीरता से पालन करना चाहिए
संक्रमित मरीजों की गिनती बढ़कर 33 हजार 822 हो गई है, इनमें 31018 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं

पटना. जिले में गुरुवार को कोरोना से चार मरीजों की मौत हो गई और 256 नए संक्रमित मामले सामने आए हैं. जिससे अब शहर में एक्टिव मामलों की गिनती बढ़कर 2550 तक पहुंच गई है. अब जिले में संक्रमित मरीजों की गिनती बढ़कर 33 हजार 822 हो गई है। इनमें 31018 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दी जा चुकी है. इस समय एम्स में कोरोना के 179 मरीज भर्ती है। ठीक होने पर छह मरीजों को यहां से छुट्टी दी गई है. एम्स में चार कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। मृतकों में समनपुरा के अब्दुल हई, पत्रकारनगर की ममता कुमारी झा, हिलसा के राजीव कुमार निराला और शास्त्रीनगर के शुभंकर ठाकुर शामिल हैं।

पटना एम्स में गुरुवार को बुखार होने के कारण उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को भर्ती करवाया गया है, उनके साथ एम्स में 15 मरीज भर्ती हुए। मोदी को बीते तीन दिन से बुखार था। जांच में उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव निकली. अब उनकी हालत स्थिर है। उन्हें प्राइवेट वार्ड में भर्ती किया गया है. उनकी अन्य जांच रिपोर्टस भी नार्मल हैं। ।

बिहार चुनाव: PM मोदी ने विपक्ष पर बोला हमला, कहा- अब लालटेन के जमाना गईल

स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने कहा कि दुर्गापूजा और चुनाव के दौरान भी कोरोना जांच लगातार जारी रहेगी। रविवार को भी जांच होगी। गुरुवार को समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने बताया कि पटना एम्स ने 7 महीने में 1 लाख से ज्यादा सैंपलों की कोरोना जांच की गई। इनमें 6760 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। निदेशक डॉ. पीके सिंह और कोरोना के नोडल अफसर डॉ. संजीव कुमार ने कहा कि विभाग के डॉक्टर, नर्स और टेक्नीशियन को शुक्रवार को सम्मानित किया जाएगा।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें