पटना: गांधी सेतु के समानांतर गंगा पर बन रहा फोरलेन पुल होगा विकास की मजबूत कड़ी

Smart News Team, Last updated: Wed, 27th Jan 2021, 3:08 PM IST
  • पटना में बन रहे नए पुल के निर्माण के लिए 42 महीने का समय रखा गया है. इसके तय समय सीमा में पूरा होने की उम्मीद है. पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि तमाम औपचारिकताएं पूरी कर निर्माण शुरू कर दिया गया है और अगले महीने में काम में तेज लाई जाएगी.
पटना गांधी सेतु लंबे समय से जर्जर था जिसकी वजह से पटना जाने और पटना से निकलने में घंटों जाम लगता था.

पटना. राजधानी के महात्मा गांधी सेतु के समांतर नए पुल का निर्माण तय सीमा में ही पूरा हो जएगा. इसका काम तीन साल छह महीनों में पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया है. इस संबंध में पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडे और प्रदेश के पूर्व पथ निर्माण मंत्री सह स्थानीय विधायक नंदकिशोर यादव ने पुल निर्माण स्थल का निरीक्षण करने के दौरान जानकारी दी. इस पुल के निर्माण से मुजफ्फरपुर, सारण, वैशाली के लोगों को लाभ होगा. पटना आने जाने के लिए और उत्तर बिहार से होते हुए दूसरे राज्यों में आने जाने की सुविधा होगी.

पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडे गाय़घाट पहुंचे और नंदकिशोर यादव के साथ नए पुल के निर्माण कार्यों का जायजा लिया. उन्होंने सह कंट्रोल रूम की भी जांच की. विभागीय अभियंताओं के साथ हाजीपुर के वैशाली और पटना के स्कूल के दोनों सिरों का निर्माण कार्य सुचारू रूप से चलाने संबंधी बात की गई है. उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी सेतु का निर्माण तय समय सीमा में पूरा हो जाएगा.

रूपेश सिंह हत्या की जांच के लिए दो टीमें गठित, बैंक अकाउंट की पड़ताल जारी

पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि पुल निर्माण के लिए आवश्यक जगह और लेन पूरी तरह से खाली है. भूमि अधिग्रहण का कोई भी मामला अब नहीं है. उत्तर और दक्षिणी बिहार को जोड़ने वाले इस पुल से यातायात व्यवस्था सुगम हो जाएगी और विकास को रफ्तार मिलेगी. पुल का निर्माण कार्य शुरू हो गया है. अगले एक माह में काम में और तेजी आएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें