पटना: कचरा प्रबंधन की ऑनलाइन निगरानी, निगम की 1100 गाड़ियों में लगा जीपीएस

Smart News Team, Last updated: Thu, 31st Dec 2020, 3:20 PM IST
  • प्रमंडलीय आयुक्त ने लिया शहर की सफाई व्यवस्था दुरुस्त बनाने के लिए चल रहे तमाम प्रबंधों का जायजा, सभी अधिकारियों को ऑनलाइन सिस्टम कार्यान्वित करने के लिए दिए जरूरी दिशा निर्देश
पटना नगर निगम (फाइल फोटो)

पटना. पटना में अब कचरा प्रबंधन की ऑनलाइन निगरानी होगी. सफाई कर्मियों की हाजिरी भी बायोमीटरिक से लगेगी. इसके अलावा ऑनलाइन पद्धति से प्राप्त शिकायतों का निपटारा करने के लिए नगर निगम में कॉल सेंटर भी बनाए गए हैं. प्रमंडलीय आयुक्त पटना संजय कुमार अग्रवाल ने ठोस कचरा प्रबंधन नियंत्रण की स्थिति का जायजा लिया. उन्होंने अधिकारियों को सभी वार्ड में इस सिस्टम की जानकारी देने और इसे कार्यान्वित करने के निर्देश दिए.

संजय अग्रवाल ने बताया कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर को स्वच्छ, सुंदर और स्वस्थ बनाने के लिए ठोस कचरा प्रबंधन किया गया है. इसी के तहत नगर निगम की 1100 गाड़ियों पर जीपीएस सिस्टम लगा दिया गया है. आयुक्त ने कहा कि वाहनों पर जीपीएस लगने से वाहन की हर गतिविधि की जानकारी ऑनलाइन पद्धति से अधिकारियों को मिलती रहेगी. आयुक्त ने इस संबंधी हर घर में क्यूआर कोड लगाने तथा कचरा उठाने वाले को एंड्रॉयड मोबाइल से लैस करने पर भी काम शुरू कर दिया है. इसके साथ ही हर वार्ड और सेक्टर के घरों में क्यूआर कोड लगाने के भी निर्देश दिए गए हैं. 

पटना: रिश्वत में 1 किलो पेड़ा मांग रहा था पुलिसवाला, वीडियो वायरल होने पर सस्पेंड

उन्होंने कहा कि कचरा संग्रहक घरों में लगे क्यूआर कोड को मोबाइल पर स्कैन करेगा और नगर निगम में स्थापित नियंत्रण कक्ष तक जानकारी पहुंच जाएगी. इसके साथ ही सिटीजन एप के जरिए कचरा उठाव के बारे में जानकारी संबंधित घर के व्यक्ति को भी पहुंच जाएगी. इसके लिए संबंधित व्यक्ति को सिटीजन एप डाउनलोड करना जरूरी है. संबंधित व्यक्ति एप के माध्यम से शिकायत भी दर्ज की जा सकती है. रोजाना सफाई कर्मियों की हाजिरी की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए बायोमेट्रिक एटेंडेंस लगेगी. इस दौरान प्रमंडलीय नगर आयुक्त के साथ नगर आयुक्त पटना हिमांशु शर्मा, अपर नगर आय़ुक्त शीला ईरानी व अन्य अधिकारी भी मौजूद थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें