पटना: हिंदी साहित्य सम्मेलन का 10 जनवरी को भव्य आयोजन, विद्वानों का होगा सम्मान

Smart News Team, Last updated: Sat, 9th Jan 2021, 4:15 PM IST
  • सम्मेलन परिसर में हिंदी दिवस पर पर कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. जिसमें उपमुख्यमंत्री रेणु देवी मुख्य मेहमान होंगी और उनकी ओर से साहित्यकारों की पुस्तकों का विमोचन भी किया जाएगा.
फाइल फोटो

पटना. राजधानी में विश्व हिंदी दिवस पर 10 जनवरी को हिंदी साहित्य सम्मेलन का भव्य आयोजन किया जाएगा. बिहार की उप मुख्यमंत्री रेणु देवी साहित्य सम्मेलन का उद्घाटन करेंगी. कार्यक्रम में 20 मनीषी विद्वानों और विदुषियों को सम्मानित किया जाएगा. बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ. अनिल सुलभ ने इस बारे में जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि उपमुख्यमंत्री की ओर से साहित्यकार मार्कण्डेय शारदेय की पुस्तक राम कहानी और डॉ. रीता सिंह की पुस्तक राम कृष्ण परमहंस की और मैं का विमोचन किया जाएगा. अध्यक्ष ने जानकारी देते हुए बताया कि बिहार में हिंदी दिवस को समारोह के रूप में मनाने की परंपरा का आरंभ करने का श्रेय बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन को भी जाता है. पहली बार 2013 में साहित्य सम्मेलन मनाया गया था. हर साल यह उत्सव सम्मेलन परिसर में मनाया जाता है.

बिहार में कोरोना टीकाकरण का रोड मैप तैयार, 5 माह में सबको लगेगा टीका: CM नीतीश

अध्यक्ष ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान कवि गोष्ठी का आयोजन भी किया जाएगा. जिसमें कवियों की ओर से गीतों और गजलों के माध्यम से आनंदित किया जाएगा. सम्मेलन के दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन अनिवार्य होगा. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि चाणक्य राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की कुलपति और पटना उच्च न्यायालय की पूर्व न्यायाधीश मृदुला मिश्रा, दूरदर्शन से डॉ. राजकुमार और अन्य गणमान्य शामिल रहेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें