Kartik Purnima 2021: कार्तिक पूर्णिमा पर करें नदी स्नान, अक्षय पुण्य की होगी प्राप्ति

Pallawi Kumari, Last updated: Thu, 18th Nov 2021, 8:49 AM IST
  • शुक्रवार 19 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा का पर्व मनाया जाएगा. इस दिन स्नान करने का खास महत्व होता है. वहीं पवित्र नदी में स्नान करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है. कार्तिक पूर्णिमा के दिन सुबह से ही गंगा नदी घाटों में श्रद्धालु स्नान करते हैं.
कार्तिक पूर्णिमा के दिन नदी में स्नान का महत्व.

कार्तिक मास की पूर्णिमा तिथि सबसे अधिक धार्मिक और आध्यात्मिक होती है. इस दिन स्नान-दान का खास महत्व होता है. कार्तिक मास के स्नान को महापुण्य माना जाता है. लेकिन पूर्णिमा के दिन नदी में स्नान करने महत्व होता है. यही कारण है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन सुबह से ही श्रद्धालु गंगा नदी घाटों पर स्नान के लिए पहुंचते हैं. कहा जाता है कि पूरे महीने चलने वाले कार्तिक मास में पूर्णिमा के दिन गंगा की पूर्णाहूति होती है. इस बार कार्तिक पूर्णिमा का स्नान शुक्रवार 19 नवंबर को किया जाएगा.

हिंदू धर्म में कार्तिक मास और कार्तिक पूर्णिमा स्नान का खास महत्व होता है. लोग इस दिन सुबह स्नान आदि करके पूजा करते है और दान देते हैं. लेकिन ज्योतिषाचार्य आचार्य माधवानंद (माधव जी) का कहना है कि, सनातन धर्म से ही कार्तिक पूर्णिमा का बहुत महत्व है. इस दिन स्नान-दान की जाती है.

Dev Deepawali 2021: देव दीपावली के दिन करें ये 5 उपाय, माता लक्ष्मी और कुबेर की कृपा से होगा धनलाभ

 कार्तिक पूर्णिमा के दिन किसी पवित्र नदी में स्नान करना चाहिए. राजस्थान के पुष्कर झील. काशी, बिहार में गंगा और गंडक के संगम स्नान करने का पुराणों में भी बहुत महत्व है. यही कारण है कि कार्तिक स्नान के लिए सुबह से इन नदियों में श्रद्धालुओं की भीड़ रहती है.

ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नान करके विष्णु भगवान की 16 उपचार से पूजा करें और स्नान के बाद ‘ओम नमो भगवते वासुदेवाय, ओम नमो नारायणाय’ मंत्रों का जाप करना चाहिए. स्नान और पूजन के बाद दान जरूर करें,

कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही स्नान किया जाता है और इसी दिन देव दीपावली भी मनाई जाती है. लेकिन इस बार पूर्णिमा का व्रत आज 18 नवंबर को किया जाएगा. क्योंकि 19 नवंबर को सूर्यास्त के समय पूर्णिमा नहीं है. 18 को पूर्णिमा दिन में 11:34 के बाद से प्रारंभ हो रही है. इसलिए आज ही काशी में देवताओं की दिवाली यानी देव दीपावली मनाई जाएगी.

Kartik Purnima 2021: कार्तिक पूर्णिमा में क्या है स्नान का महत्व, जानें मुहूर्त और पूजा विधि

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें