फुलवाशरीफ से PNG पाइपलाइन बिछाने का काम शुरू, दिसंबर तक कनेक्शन देने का लक्ष्य

Smart News Team, Last updated: Wed, 24th Feb 2021, 1:39 PM IST
  • दिसंबर माह तक 15 हजार घरों में कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है. गेल के अधिकारी के मुताबिक कोरोना की वजह से देरी हुई है. अब काम तेजी से चल रहा है दिसंबर तक का लक्ष्य आसानी से हासिल कर लिया जाएगा. नए कनेक्शन देने के लिए रजिस्ट्रेशन की जा रही है.
रविवार की सुबह आवास विकास कॉलोनी सेंट्रल पार्क के पास पीएनजी पाइप लाइन में अचानक आग लग गई

पटना. फुलवाशरीफ से लेकर पीएनजी पाइपलाइन बिछाने का काम शुरू हो गया. ये पाइपलाइन अनीसाबाद बाइपास के रास्ते मीठापुर तक बिछाई जानी है और दिसंबर तक इसके 15 हजार कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है. गेल के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि पहले फेज में करीब 30 मोहल्लों और कॉलोनियों को कनेक्शन दिया जाएगा. इस समय अनीसाबाद पेट्रोप पंप, इनकम टैक्स गोलंबर, बोरिंग रोड, पाटलिपुत्र, मैनपुरा आदि इलाकों में पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा है.

गेल अधिकारी मुताबिक अप्रैल महीने तक पांच हजार घरों में कनेक्शन दिया जाएगा. कोरोना ना होता अब तक दस हजार घरों में कनेक्शन दिया जा चुका होता. इस समय 2000 घरों में पीएनजी से खाना बन रहा है और पांच हजार घरों में कनेक्शन देने के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया चल रही है. पाइपलाइन से गैस कनेक्शन लेने पर लोगों की गैस को लेकर परेशानी हल हो जाएगी. उन्हें गैस खत्म होने का डर अब नहीं रहेगा और गैस बुक कराने और तमाम झंझटों से राहत मिल जाएगी. 

विधानसभा में MLA श्रेयसी सिंह ने टोका तो तेजस्वी बोले- आप तो क्लासमेट रही हैं

उन्होंने बताया कि रजिस्ट्रेशन दौरान कनेक्शन के लिए 4500 रुपए एडवांस देने होंगे. जब उपभोक्ता कनेक्शन कटवाएगा तो यह राशि वापस कर दी जाएगी. रजिस्ट्रेशन फ्री होगा. उपभोक्ता जितनी गैस इस्तेमाल करेगा उसके हिसाब से बिल आएगा. उन्होंने बताया कि जिस एरिया में पीएनजी पहुंचाई जा रही है वहां सीएनजी स्टेशन खोलने की प्रक्रिया भी चल रही है. जानकारों की मानें तो पीएनजी एलपीजी से बेहतर होती है और इससे प्रदूषण भी कम होता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें