Mahashivratri 2022: महाशिवरात्रि पर इन शिव मंत्रों का करें जाप, मनोकामनाएं होंगी पूरी

Pallawi Kumari, Last updated: Sun, 27th Feb 2022, 4:38 PM IST
  • महाशिवरात्रि के दिन शिवजी की विशेष पूजा अराधना की जाती है. लेकिन इस दिन अगर आप पूजा में भगवान शिव के इन प्रिय मंत्रों का जाप करेंगे तो शिवजी आपकी पूजा के प्रसन्न होंगे और आपकी सारी मनोकामनाएं पूरी होंगी. इस मंत्रों को शिव जी का चमत्कारी और प्रभावशाली मंत्र माना जाता है.
महाशिवरात्रि (फोटो-सोशल मीडिया)

महाशिवरात्रि का त्योहार शिवजी की पूजा के लिए सबसे बड़ा पर्व माना जाता है. कहा जाता है कि इसी दिन भोलेनाथ और गौरा माता का विवाह हुआ था. महाशिवरात्रि के दिन भोलेनाथ की विशेष पूजा की जाती है. इस बार महाशिवरात्रि मंगलवार 1 मार्च 2022 के दिन पड़ रही है. महाशिवरात्रि को लेकर शिव भक्तों के बीच खूब उल्लास और भक्ति देखने को मिल रही है. महाशिवरात्रि के विधि-विधान से शिवजी की पूजा करने से भगवान प्रसन्न होते हैं. 

लेकिन महाशिवरात्रि के दिन अगर आप शिवजी के चमत्कारी और प्रभावशाली मंत्रों का जाप करते हैं तो आपको इसका कई गुणा फल मिलता है. इन शिव मंत्रों के जाप से रोग, दोष, कष्ट, संकट, पाप, भय सब दूर हो जाते हैं और आपकी हर मनोकामनाएं पूरी होती हैं.

Mahashivratri 2022: महाशिवरात्रि पर बनेगा पंचग्रही योग, इस मुहूर्त पर पूजा करना होगा शुभ

 शिव गायत्री मंत्र- ओम तत्पुरुषाय विद्महे, महादेवाय धीमहि, तन्नो रूद्र प्रचोदयात्।

इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को सुख, समृद्धि की प्राप्ति होती है.

पंचाक्षरी मंत्र-ओम नम: शिवाय

इसे भगवान शिव का मूल मंत्र कहा जाता है. इस एक मंत्र के जाप से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है.

महामृत्युंजय मंत्र- ओम त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥

लघु मृत्युंजय मंत्र-ओम जूं स माम् पालय पालय स: जूं ओम

मृत्युंजय मंत्रों का जाप अकाल मृत्यु, असाध्य रोग, राजदंड आदि से सुरक्षा के लिए करते हैं.

शिव आरोग्य मंत्र-माम् भयात् सवतो रक्ष श्रियम् सर्वदा।

आरोग्य देही में देव देव, देव नमोस्तुते।।

ओम त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।

उर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्।।

उत्तम स्वास्थ्य के लिए इस मंत्र का भी जाप करते हैं.

शिवजी का सबसे सरल और प्रभावशाली मंत्र- ओम हृौं शिवाय शिवपराय फट्।।

इस मंत्र का जाप धन-संपत्ति की प्राप्ति के लिए किया जाता है.

Ekadashi 2022: विजया एकादशी पर आज ऐसे करें विष्णुजी की पूजा, जानें नियम और शुभ मुहूर्त

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें