पटना

पटना: लॉकडाउन में बकरीद का पर्व, धर्मगुरुओं ने दी सावधानी की हिदायत

Smart News Team, Last updated: 01/08/2020 11:06 AM IST
  • 1 अगस्त को ईद-उल-अजहा (बकरीद) का पर्व मनाया जा रहा है. बिहार में लॉकडाउन के कारण लोगों को घर में ही रहने की सलाह और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की हिदायत दी गई है.
कोरोना वायरस के कारण बिहार लॉकडाउन में ईद मना रहा है.

शनिवार को ईद उल अजहा का पर्व पूरे देश में मनाया जा रहा है. बकरीद के लिए मुस्लिम धर्म गुरुओं ने लोगों से अपील की है कि कोरोना का कहर अभी भी पटना शहर में लगातार बना हुआ है. इससे बचने के लिए एतिहायत जरूर बरतें. सभी मुस्लिम इस बात का ध्यान रखें कि ईद पर साफ-सफाई और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए. सरकार की सभी गाइडलाइंस का पालन किया जाए. उन्हें पर्व के कारण किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़े. गौरतलब है कि बिहार सरकार ने लॉकडाउन 16 अगस्त तक बढ़ा दिया है.

मुस्लिम धर्म के सबसे बड़े एदारे इमारत-ए-शरिया ने भी लोगों से सतर्कता बरतने की अपील की है. कुर्बानी इस पर्व पर बिहार पटना में लोगों से ज्यादा बाहर नहीं निकलने की अपील की गई है. बकरीद होने के बावजूद भी दुकानों पर खरीददारी नहीं हुई जिससे दुकानदार काफी मायूस हैं.  

पटना: नीतीश सरकार ने 16 अगस्त तक फिर बढ़ाया लॉकडाउन, पढ़ें पूरी गाइडलाइंस

लॉकडाउन के कारण गैर-जरूरत चीजों की दुकानों को बंद रखा गया. किसी पर्व पर पहली बार इतनी मायूसी देखने को मिल रही है. वहीं शुक्रवार को लॉकडाउन में छूट दी गई जिसके कारण खरीददारी का क्रम चला. कुर्बानी के जानवरों की बिक्री हुई. ज्यादा खरीददारी नहीं होने के कारण व्यापारियों ने जानवरों की कीमत में बढ़ा दी थी. जिससे 10 से 12 हजार में बिकने वाला बकरा 15 से 20 हजार में बिक रहा था. 

पटना: लॉकडाउन में भी जारी कोरोना का कहर, शुक्रवार को नए 535 पॉजिटिव केस

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राज्यपाल फागू चौहान ने ईद-उल-अजहा के मौके पर प्रदेश को बधाई देते हुए कहा कि इस असीम आस्था के त्योहार में भाईचारे और सद्भाव को भी मिलाएं. कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए सभी लोग अपना ध्यान रखें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य करें. इस पर्व पर महामारी को जड़ से मिटाने पर विचार करना चाहिए.

अन्य खबरें