बिहार बोर्ड की 10वीं-12वीं के सिलेबस को कम करने की तैयारी, SCERT की टीम गठित

Smart News Team, Last updated: 27/08/2020 08:44 AM IST
  • अन्य शिक्षा बोर्डों की तरह बिहार बोर्ड भी कम करेगा 10वी और 12वी का पाठ्यक्रम. इसके लिए एससीईआरटी की टीम काम में लग गई हैं
बिहार बोर्ड 

पटना: बिहार बोर्ड में भी अब सीबीएसई और आईसीएसई की तरह हाईस्कूल और इंटरमीडिएट में 2021 की परीक्षा के लिए सिलेबस कम करने की योजना है.यह काम एससीईआरटी को सौंपा गया है. इसके लिए विशेषज्ञों की टीम बनायी गयी है. एससीईआरटी की टीम सिलेबस को देखकर जरुरी बदलाव की सलाह देगी.

जानकारी के मुताबिक एससीईआरटी निदेशक गिरिवर दयाल ने कहा है कि बिहार बोर्ड ने प्रस्ताव दिया है और इसकी तैयारी हमने शुरू कर दी है. यह उम्मीद है कि हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का 25-30 फीसदी सिलेबस कम किया जा सकता है. गौरतलब है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण स्कूल लगातार बंद है.जिस कारण ऑनलाइन पढ़ाई शुरू तो की हुई लेकिन प्रदेश भर के विद्यार्थी इसका फायदा नहीं उठा पा रहे हैं.आगर टीवी चैनलों से होने वाली पढ़ाई की  बात करें तो अभी तक सिर्फ 57 फीसदी विद्यार्थी ही दूरदर्शन पर पढ़ाई कर पा रहे हैं.

 वहीं बिहार शिक्षा परियोजना परिषद की मानें तो 32 फीसदी छात्र और 60 फीसदी छात्राओं के पास ऑनलाइन पढ़ाई से जुड़ने के लिए किसी भी प्रकार का डिजिटल उपकरण नहीं है. ऐसे में ये  ऐसे विद्यर्थियों की पढ़ाई बुरी तरह प्रभावित हुई है. 

बिहार एससीईआरटी निदेशक गिरिवल दयाल का कहना है कि  कोरोना के कारण स्कूल लगातार बंद रहा.ऑनलाइन पढ़ाई तो चल रही है लेकिन सिलेबस को कम करके परीक्षा ली जायेगी.बिहार बोर्ड से पहले कोरोना महामारी को देखते हुए सीबीएसई और आईसीएसई के अलावा कई राज्य बोर्डों ने भी अपने राज्य के 10वीं और 12वीं के सिलेबस को कम कर दिया है. महाराष्ट्र बोर्ड  ने 25 फीसदी सिलेबस कम कर दिया है. वहीं राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात राज्य बोर्ड ने भी सिलेबस कम करने का फैसला लिया है. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने हाई स्कूल और इंटरमीडिएट के पाठ्यक्रम में 30 फीसदी तक कम करने का फैसला किया है.

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें