पटना

अध्ययन में खुलासा, लोगों की शुरुआती लापरवाही बनी पटना में कोरोना विस्फोट का कारण

Smart News Team, Last updated: 25/07/2020 03:41 PM IST
  • राजधानी पटना में कोरोना वायरस से हो रही लोगों की मौत के अध्ययन से पता चला है कि प्रारंभिक दौर से ही लोग लापरवाही बरत रहे हैं. अगर लोग सचेत रहें तो संक्रमण की दर कम की जा सकती है.
कोरोना पर अध्ययन

पटना, शैलेश कुमार सिंह

पटना में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. साथ ही मौत का आंकड़ा भी डरावना होता जा रहा है. ऐसे में कोरोना वायरस को लेकर एक अध्ययन में पता चला कि जिले में लोग शुरुआती समय से लापरवाही बरत रहे हैं जिसकी वजह से संक्रमण तेजी से फैला रहा है. अध्ययन में कहा गया कि अगर लोग सचेत रहे तो संक्रमण दर कम हो सकती है. इसके साथ ही लापरवाही की वजह से हो रही मौत से बचा जा सकता है.

प्रशासनिक अध्ययन से पता चला कि जिन इलाकों में ज्यादा गतिविधियां रहीं वहीं तेजी के साथ कोरोना का संक्रमण फैला. जबकि जिन इलाकों में लोगों ने नियमों का पालन किया और खुद का ख्याल रखा वहां संक्रमण कम रहा. ऐसे में निष्कर्ष निकलता है कि शहर के कंटेनमेंट जोन में पूरी तरह से गतिविधियां बंद होनी चाहिए. इस पर प्रशासन अमल भी कर रहा है.

होम आइसोलेट हुए कोरोना संक्रमितों के परिजनों को मिलेगी स्पेशल ट्रेनिंग

अध्ययन में सामने आया है कि पटना में शुरुआती दौर में गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों की ज्यादा मौत हुई लेकिन जुलाई में कई लोगों ने लापरवाही के चलते भी अपनी जान गंवाई. अध्ययन में यह भी पाया गया कि जो लोग सामान्य तौर पर बीमारी नहीं थे लेकिन लक्षण के बाद भी इलाज में लापरवाही बरती, उन्हें जान की कीमत चुकानी पड़ गई. अध्ययन में ऐसे भी कुछ मामले आए जिनमें मरीजों की जान अस्पताल पहुंचने में देरी की वजह हुई.

खेत बिकवाए, मकान पर कब्जा फिर जान की दी धमकी, कहानी मजनू को लूटने वाली लैला की

मालूम हो कि वर्तमान में जिले में करीब 1500 लोग होम आइसोलेशन में हैं. प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि सभी संक्रमितों को नियमित टेलीफोन से सलाह दी जाती है लेकिन पांच प्रतिशत लोगों ने मोबाइल नंबर गलत दर्ज करा दिया जिस वजह से निगरानी नहीं हो पा रही है.

पटना जिलाधिकारी ने इस संबंध में कहा कि कोरोना ऐसी बीमारी है, जिसमें बचाव ही मुख्य उपाय है. अगर कोरोना वायरस में लोग सतर्क और जागरूक रहें तो बीमारी पर काबू पाया जा सकता है. इसीलिए बार-बार अपील की जा रही है कि लोग घर से न निकलें. अगर काम जरूरी है तो मास्क लगाएं और समय-समय पर हाथ सेनेटाइज करते रहें.

अन्य खबरें