पटना

पटना: सिर्फ चार दिनों में मर गईं तालाब की हजारों मछलियां, हैरान कर देगी वजह

Smart News Team, Last updated: 23/07/2020 12:10 AM IST
  • बुधवार को पटना के विद्यापति मार्ग स्थित मत्स्य विभाग के तालाब में हजारों मछलियां ऑक्सीजन की कमी से मर गईं.
तालाब में ऑक्सीजन की कमी से मर गईं हजारों मछलियां

पटना. राजधानी पटना में बुधवार को विद्यापति मार्ग स्थित मत्स्य विभाग के तालाब में हजारों मछलियां ऑक्सीजन की कमी से मर गईं. सभी मरी मछलियों को छानकर मिट्टी में गाड़कर तालाब की सफाई के लिए चूना और दवा का छिड़काव किया गया है.

जिला मत्स्य पदाधिकारी मनीष कुमार श्रीवास्तव अनुसार बरसात का मौसम में सूरज का प्रकाश कम मिलता है. बताया कि बारिश के दिनों में सूर्य का प्रकाश कम मिलता है. इस वजह से जलीय पौधे ज्यादा हो जाते हैं. मछलियों को इससे कम ऑक्सीजन मिलने लगा.

शव का VIDEO वायरल होने व सेंट्रल टीम की फीडबैक पर एक्शन, NMCH के अधीक्षक हटाए गए

 चार दिन पहले मछलियों की मौत शुरू हो गई.मछलियों की सूचना फिशकोफेड को दी गई लेकिन वहां से कोई कार्रवाई नहीं हई.

बता दें कि फिशकोफेड को तालाब में मछली पालन की जिम्मेदारी दी गई थी. फिशकोफेड के निदेशक ऋषिकेश कश्यप ने इस मामले में तालाब की निगरानी के लिए फिशकोफेड के अधिकारी राजीव कुमार को जिम्मेदारी दी गई थी.

दरभंगा के BJP MLC सुनील सिंह का पटना में हर्ट अटैक से निधन, कोरोना पॉजिटिव भी थे

 राजीव ने अपना काम ठीक तरह नहीं निभाया जिस वजह से मछलियां मर गईं. राजीव के खिलाफ कार्रवाई के लिए फिशकोफेड के एमडी को लिखा गया है. वहीं फिशकोफेड एमडी बीके मिश्रा ने फिशकोफेड बिहार से रिपोर्ट मांगी है.

अन्य खबरें