पटना वीमेंस कॉलेज: 1 घंटा ऑनलाइन क्लास, 74000 फीस, छात्राओं ने कहा- ये अन्याय है

Smart News Team, Last updated: 15/07/2020 04:44 PM IST
  • बिहार में लड़कियों के बड़े कॉलेज पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं ने कोरोना काल में फीस वसूली के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कॉलेज बंद है इसलिए सोशल मीडिया पर आंदोलन शुरू हो गया है। विरोध इस बात का है कि जब कॉलेज बंद है और पढ़ाई भी आधा-एक घंटा ऑनलाइन क्लास से हो रही है तो लाइब्रेरी और मैंटेनेंस चार्ज किस बात का।
पटना वीमेंस कॉलेज राज्य में लड़कियों के प्रतिष्ठित कॉलेजों में एक हैं। छात्राओं को सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि बंद कॉलेज में भी लाइब्रेरी और मैंटेनेंस वसूला जा रहा है।

चंदन द्विवेदी, पटना

कोरोना काल में स्कूल-कॉलेज बंद हैं लेकिन उनकी फीस की डिमांड ना कम हो रही है, ना ही बंद हो रही है। पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं ने एक-दो घंटे ऑनलाइन क्लास के बदले भारी-भरकम फीस वसूली के आदेश के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पटना यूनिवर्सिटी से संबद्ध इस ऑटोनॉमस कॉलेज की लड़कियों ने सोशल मीडिया को अपने फीस विरोधी आंदोलन से हिला दिया है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्वीटर पर पटना यूनिवर्सिटी की छात्राओं ने फीस के खिलाफ एक हैशटैग को ट्रेंड करा दिया जिससे बात दूर तलक पहुंच गई है। छात्राओं ने राज्यपाल, राज्य सरकार से मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है।

आगरा का स्कूल एसोसिएशन जरूरतमंद अभिभावकों को तीन महीने की फीस राहत देगा

पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं ने फीस में कमी की गुहार लगाई है और उनका कहना है कि इस आपदा में जब सैलरी वालों का वेतन कट रहा है और जिनका व्यापार है वो कमा नहीं पा रहे हैं तो उनके अभिभावक इतने पैसे कहां से लाएंगे। पटना वीमेंस कॉलेज ने अलग-अलग कोर्स के छात्राओं से 31 जुलाई तक फीस जमान करने को कहा है। कॉलेज ने राहत और रियायत बस इतनी दी है कि साल भर की फीस एक बार जमा करने के बदले उसने दो सेमेस्टर के हिसाब से पैसा जमा करने को कहा है। 

ये है पटना वीमेंस कॉलेज से निकला फीस जमा करने का आदेश जिसके बाद छात्राएं भड़क गई हैं।

छात्राओं का कहना है कि कोरोना में अभिभावक घर पर हैं। आमदनी ठहरी हुई है। घरी ही किसी तरह चल पा रहा है। ऐसे में कॉलेज प्रशासन भारी फीस की डिमांड कर रहा है। कई छात्राओं का कहना है कि उनके अभिभावक 50 हज़ार से लेकर 74 हज़ार तक की फीस जमा करने की हालत में नहीं है। 

कॉलेज बंद है मैंटेनेंस और लाइब्रेरी चार्ज क्यों, पढ़ाई के नाम पर बस ऑनलाइन क्लास 

छात्राओं का कहना है कि हर दिन आधे घंटे से एक घंटे की ऑनलाइन क्लास चल रही है, ऐसे में इतनी मोटी फीस किस आधार पर ली जा रही है। छात्राओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पीएम नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है कि आपदा में वे बेटियों की सोचें। 

न घर के न घाट के: जिस प्रेमी के लिए अपना सुहाग खुद उजाड़ा, वही शादी से मुकर गया

संस्थान की छात्रा और पीयू छात्र संघ की कोषाध्यक्ष कोमल कुमारी ने कहा कि छात्राओं की बात विभागाध्यक्ष और प्राचार्या नहीं सुन रही हैं। यह अन्याय है। कॉलेज को छात्राओं की फीस में कटौती करनी चाहिए। जब उन्हें सुविधा नहीं दी गई है तो इतनी फीस किस एवज में ली जा रही है।

सोशल मीडिया पर पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं ने अपने फीस विरोधी आंदोलन को गर्मा दिया है। ट्वीटर ट्रेंड में भी पटना के इस आंदोलन की छाप दिख रही है।

छात्राओं ने कहा कि कॉलेज प्रशासन किस बात का मैंटेनेंस और लाइब्रेरी चार्ज ले रहा है जब ये सब बंद हैं। छात्राएं जब कॉलेज नहीं जा रहीं तो इन चीजों के लिए फीस वसूली गलत है। छात्राओं ने राजभवन, शिक्षा मंत्री से मामले में दखल देकर फीस आधा माफ कराने की मांग की है। छात्राओं ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि कॉलेज का यह रवैया छात्राओं और उनके अभिभावकों पर एक तरह का टॉर्चर है।

पटना: BDO का शराब तस्कर ड्राइवर गिरफ्तार, कार में बोतल का तहखाना देख पुलिस दंग

अन्य खबरें