Pradosh Vrat: सोम प्रदोष व्रत आज, जानें शिवजी की पूजा के लिए समय, नियम और मंत्र

Pallawi Kumari, Last updated: Mon, 28th Feb 2022, 8:51 AM IST
  • शिव भक्त आज 28 फरवरी 2022 के दिन सोम प्रदोष व्रत रखेंगे. ये फाल्गुन माह का पहला प्रदोष व्रत है. प्रदोष व्रत के दिन भक्तिभाव से भोलेनाथ की पूजा करने से सारी मनोकामनाएं पूरी होती है. आज सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है. पूजा के लिए शाम 6 बजकर 20 मिनट से रात 8 बजकर 49 तक का शुभ समय रहेगा.
महादेव-पार्वती (फोटो-लाइव हिन्दुस्तान)

हर माह के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन प्रदोष व्रत होता है. प्रदोष व्रत के दिन भगवान भोलेनाथ की पूजा करने का विधान है. इस बार प्रदोष व्रत सोमवार 28 फरवरी को पड़ रही है. ज्योतिष की माने तो आज का प्रदोष व्रत बेहद उत्तम माना जाता है. क्योंकि आज सोमवार का दिन पड़ रहा है जोकि शिवजी की पूजा के लिए समर्पित होता है. सोमवार का दिन पड़ने के कारण इसे सोम प्रदोष व्रत के नाम से जाना जाता है.

वहीं आज सर्वार्थ सिद्धि योग का शुभ संयोग भी बन रहा है. सर्वार्थ सिद्धि योग सुबह 07 बजकर 02 मिनट से शुरू होगा, जो अगले दिन मंगलवार, 1 मार्च की सुबह 5 बजकर 19 मिनट तक रहेगा. आइये जानते हैं आज प्रदोष व्रत के लिए पूजा विधि, मुहूर्त और मंत्र.

Pradosh Vrat 2022: सोम प्रदोष व्रत पर बन रहा ये विशेष संयोग, पूजा का मिलेगा पूरा फल

प्रदोष व्रत में पूजा की विधि-

प्रदोष व्रत के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करें फिर किसी मंदिर या घर पर ही पूजा की तैयारी करें. शिवजी का विधिपूर्वर अभिषेख करें. उन्हें पूजा में बेलपत्र,धूप, भांग, धतूरा, चंदन, अक्षत, शहद, फूल गंगाजल आदि से पूजन करें. धूप दीप जलाएं और पूजा के दौरान 'नम: शिवाय ओम नमः' शिवाय मंत्र का जाप जरूर करें और आखिर में आरती करें.

प्रदोष व्रत पूजा मुहूर्त-

प्रदोष व्रत- सोमवार 28 फरवरी 2022

प्रदोष व्रत पूजा का समय- शाम 06:20 से रात 08:49 तक

शुभ योग- सर्वार्थ सिद्धि योग सुबह 07:02 से शुरू होगा, जो अगले दिन मंगलवार, 1 मार्च की सुबह 5:19 तक रहेगा.

शिवजी के मंत्र-

शिव गायत्री मंत्र- ओम तत्पुरुषाय विद्महे, महादेवाय धीमहि, तन्नो रूद्र प्रचोदयात्।

पंचाक्षरी मंत्र-ओम नम: शिवाय

महामृत्युंजय मंत्र- ओम त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥

लघु मृत्युंजय मंत्र-ओम जूं स माम् पालय पालय स: जूं ओम

Amavasya 2022: फाल्गुन अमावस्या पर भूलकर न करें ये गलतियां, वरना झेलना पड़ेगा पितृ दोष

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें