बिजली कंपनी के प्रस्ताव में स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने वाले उपभोक्ताओं को राहत

Smart News Team, Last updated: Fri, 1st Jan 2021, 8:43 PM IST
  • साउथ बिहार और नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के प्रस्ताव पर प्रमंडलवार जनसुनावाई करके फैसला दिया जाएगा. फैसला 1 अप्रैल, 2021 से एक वर्ष के लिए लागू होगा.
प्रीपेड मीटर (फाइल फोटो)

पटना. साउथ बिहार और नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी की ओर से राज्य विद्युत विनियामक आयोग को प्रस्ताव भेजा गया है. जिसमें बिजली के फिक्स चार्ज में 10 फीसद और दर दर में 9 फीसद की बढ़ौतरी की गई है. आयोग के अध्यक्ष और सदस्यों की ओर से सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं से दावा-आपत्ति लिए जाएंगे. जिसके बाद प्रमंडलवार जनसुनवाई करके फैसला दिया जाएगा. प्रस्ताव पर लिया गया फैसला 1 अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2022 तक लागू रहेगा.

प्रस्ताव में बिजली कंपनी ने उन उपभोक्ताओं को विशेष राहत प्रदान की है, जिनके स्मार्ट प्रीपेड मीटर होंगे. एक अप्रैल से प्रीपेड मीटर रीचार्ज करवाने पर उन उपभोक्ताओं को तीन फीसदी अधिक राशि दी जाएगी. यदि एक माह में 2000 रुपए का रीचार्ज करेंगे तो 2060 रुपए मिलेंगे. प्रस्ताव के मुताबिक बिजली दर की गणना तीन स्लैब में की जाएगी. इसका फायदा ग्रामीण इलाकों में 200 यूनिट से ज्यादा खपत करने वालों को होगा. ग्रामीण इलाकों में 200 यूनिट से ज्यादा खपत करने पर 6.95 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से शुल्क देना होता है, सरकारी अनुदान के बाद यह राशि 3.40 रुपए रह जाएगी. प्रस्ताव मंजूर हो जाएगा तो यह राशि 6.60 रुपए बिलिंग होगी और अनुदान के बाद 3.05 रुपए रह जाएगी.

वॄश्चिक वार्षिक राशिफल: कैसा होगा नया साल 2021, चमकेगी किस्मत या होगा नुकसान

इसके अलावा शहरी इलाकों में 300 यूनिट से ज्यादा खपत करने वालों को भी इसका लाभ मिलेगा. 300 यूनिट से ज्यादा खपत करने पर 8.50 रुपए यूनिट के हिसाब से शुल्क देना होता है. अनुदान के बाद राशि 6.67 रुपए रह जाती है. प्रस्ताव मंजूर हो गया तो 7.70 रुपए बिलिंग होगी और अनुदान के बाद 5.87 रुपए रह जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें