पटना: धार्मिक अनुष्ठान और पूजा अर्चना कर मंदिरों में मनाई गई शरद पूर्णिमा

Smart News Team, Last updated: 01/11/2020 11:28 AM IST
  • शहर के सभी प्रमुख गंगा घाटों पर शरद पूर्णिमा के मौके पर स्नान करने के लिए लोगों की भीड़ जमा रही. लोगों ने गंगा घाट पर स्नान कर मंदिरों में जाकर पूजा अर्चना की. इस दौरान कोरोना के चलते सभी गाइडलाइंस का ध्यान रखा गया.
शरद पूर्णिमा का चांद (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना. शरद पूर्णिमा के मौके पर शनिवार को मंदिरों में धार्मिक अनुष्ठान करवाए गए. लोगों ने विशेष पूजा अर्चना की और मां भगवती का श्रृंगार किया. राजधानी के प्रमुख मंदिरों शक्तिपीठ बड़ी पटनदेवी, छोटी पटनदेवी अगमकुआं स्थित शीतला माता मंदिर में विशेष आयोजन करवाए गए. इस दौरान इन मंदिरों में काफी चहल-पहल दिखी. लोगो की भक्ति और आस्था को देखते हुए कोरोना से बचाव हेतु सभी गाइडलाइंस को फॉलो किया गया. लोग पूरे भक्ति भाव से पूजा अर्चना करते नजए आए.

इधर, बेगमपुर स्थित दादाबाड़ी जैन मंदिर में जैन धर्मानुरागियों ने दादा गुरुदेव की पूजा अर्चना की. नवकार महामंत्र के बाद दादा गुरुदेव की बड़ी पूजा, सामूहिक इक्तीसा पाठ, मंगल आरती समेत अन्य धार्मिक अनुष्ठान हुए. कार्यक्रम में राजेश चौरिडया, प्रदीप जैन, गणेश सिपानी, पारसचंद वैद, नूतन जैन, दिलीप जैन, राधाकांत समेत अन्य ने अपनी हाजिरी लगवाई और पूजा अर्चना की. कोरोना के कारण हालांकि लोगों को कई बंदिशों का पालन करना पड़ रहा है लेकिन इसके बावजूद लोगों की आस्था कम नहीं हुई है. 

बिहार चुनाव: PM नरेंद्र मोदी की रविवार को 4 रैलियां, CM नीतीश भी रहेंगे मौजूद

उधर दुर्गा पूजा आयोजकों की तरफ से भी धार्मिक आयोजन करवाया गया. आयोजकों ने शरद पूर्णिमा के मौके पर मंदिर के पूजा स्थल पर शांति पूजा का अनुष्ठान कराया. मौके पर वीरायतन के संस्थापक अमर मुनि व आचार्य विद्यासागर महाराज के जन्मदिन पर गोष्ठी का आयोजन किया गया. इस दौरान वक्ताओं की ओर से वीरायतन के संस्थापक अमर मुनि व आचार्य विद्यासागर महाराज की महिमाओं का बखान किया गया. शहर के प्रमुख घाटों पर गंगा स्नान के लिए खाजेकलां, महावीर, भद्रघाट तथा गायघाट पर लोगों की भीड़ जुटी रही और लोग गंगा स्नान कर पूजा अर्चना करते नजर आए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें