विधानसभा में MLA श्रेयसी सिंह ने टोका तो तेजस्वी बोले- आप तो क्लासमेट रही हैं

Smart News Team, Last updated: 23/02/2021 06:13 PM IST
  • बिहार बिहार विधानसभा बजट सत्र में तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार को खेल के मुद्दे पर घेरने की कोशिश की तो बीजेपी विधायक श्रेयसी सिंह ने उनको टोका. इस पर तेजस्वी यादव ने कहा कि आप तो हमारे साथ स्कूल में पढ़ी हैं, हमारी बैचमेट रही हैं. आपके यहां आने की हमें खुशी है.
तेजस्वी यादव ने विधानसभा बजट सत्र में नीतीश सरकार को खेल के मुद्दे पर घेरा.

पटना. बिहार विधानसभा बजट सत्र में विपक्ष नीतीश सरकार को लगातार घेरने की कोशिश कर रहा है. बिहार विधानसभा में मंगलवार को राज्यपाल के अभिभाषण पर बोलते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार को खेल के मुद्दे पर घेरने की कोशिश की तो बीजेपी से विधानसभा पहुंची इंटरनेशनल शूटर श्रेयसी ने इसका बचाव किया. इस पर तेजस्वी यादव ने कहा कि हम उनकी बात कर रह हैं जिन्हें सुविधा नहीं मिलती है. आप तो हमारे साथ पढ़ी हैं, हमारी बैचमेट रही हैं.

राजद नेता तेजस्वी यादव मंगलवार को विधानसभा में रोजगार, भ्रष्टाचार और अपराध समेत कई मुद्दों पर नीतीश सरकार को नाकाम बता रहे थे. इसके बाद उन्होंने स्पोर्ट्स में सुविधाओं की बदहाली का मुद्दा उठाया. तेजस्वी यादव ने कहा कि श्रेयसी यहां बैठी हैं. इनसे पूछिए क्या बिहार में राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर के निशानेबाजों के लिए कोई शूटिंग रेंज है?

बिहार शिक्षा मानकों में 5 बैकवर्ड राज्यों में शामिल, नीतीश सरकार ने भी माना

तेजस्वी यादव ने कहा कि क्या बिहार के बच्चों का मन नहीं होता कि वे देश के लिए ओलंपिक से गोल्ड जीतकर लाएं? इस पर श्रेयसी ने टोका और बैठे-बैठे ही अपनी बात कहनी शुरू कर दी. जिस पर स्पीकर ने उनसे खड़े होकर बात करने को कहा. जिसके बाद श्रेयसी सिंह ने खड़े होकर कहा कि बजट में राजगीर में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की घोषणा की गई है. जहां तक राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय के शूटिंग की रेंज की बात है तो मंत्री आलोक रंजन से इस बारे में मेरी बात हो चुकी है.

CM नीतीश का NDA विधायकों को निर्देश, 'पूरे बजट सत्र में रोजाना रहें मौजूद'

जिसके बाद तेजस्वी यादव ने कहा कि बात हमारी या आपकी नहीं है. मैं उनकी बात कर रहा हूं जिन्हें कोई सुविधा नहीं मिलती. आप तो हमारे स्कूल में पढ़ी हैं, हमारी बैच मेट रही हैं. आपके यहां चुनकर आने की हमें खुशी है. उन्होंने कहा कि पिछले 15 साल से बिहार में खेल प्रतिभाओं के लिए कुछ नहीं किया गया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें