पटना विवि में साइंस, ह्यूमिनिटी और सोशल साइंस फैकल्टी के तीन भवन बनाए जाएंगे

Smart News Team, Last updated: 01/03/2021 04:43 PM IST
  • पटना यूनिवर्सिटी में 2016 में ही भवनों के निर्माण का प्रस्ताव पारित हो गया था लेकिन काम नहीं हो सका. अब विवि प्रशासन की स्टूडेंट्स को शिक्षा का अनुकूल और आधुनिक सुविधाओं से लैस माहौल देने के लिए तीन नए भवनों के निर्माण को साकार रूप देने की योजना है.
कोरोना संकट के बीच पटना विश्वविद्यालय ने दाखिले के लिए नामांकन की तारीख को आगे बढ़ा दिया है।

पटना. पटना यूनिवर्सिटी की ओर से स्नातकोतर विभाग के अलग से भवन बनाने की योजना है. इसमें साइंस, ह्यूमिनिटी और सोशल साइंस फैकल्टी के लिए तीन भवनों का निर्माण किया जाना है. गौर हो कि पटना विवि प्रशासन की ओर से इस संबंध में 2016 में ही प्रस्ताव पारित हो गया था लेकिन अभी तक मामला ठंडे बस्ते में ही था. अब पटना विवि प्रशासन ने तीन नए भवनों के निर्माण की योजना बनाई है. इनके निर्माण पर 200 करोड़ रुपए खर्च होने की उम्मीद है.

जानकारी देते हुए पटना विवि के कुलपति प्रो. गिरिश कुमार चौधरी ने बताया कि कैंपस के अंदर कई ऐसे विषय हैं जिनकी स्टडी के लिए जगह की कमी है, इसे देखते हुए ही विवि प्रशासन की ओर नए भवनों के निर्माण की योजना का प्रारूप तैयार किया जा रहा है. अब इस प्रस्ताव को यूजीसी और राज्य सरकार की मदद से पूरा कराने के लिए मदद ली जाएगी. तीनों नए भवन सबसे ऊंचे होंगे और इनमें 10 या उससे अधिक मंजिलें होंगी.

पटना में खाना बनाते समय फटा गैस सिलेंडर, दो घायल, लोग सहमें

उल्लेखनीय है कि जिन नए भवनों का निर्माण होना है उनमें फैकल्टी की हिसाब से विषयों को शिफ्ट किया जाएगा. जनरल सब्जेक्ट्स के साथ पीजी वोकेशनल पाठ्यक्रम भी इनमें शुरू किए जाएंगे. साइंस, ह्यूमिनिटी और सोशल साइंस फैकल्टी के तीनों भवनों के निर्माण से स्टूडेंट्स को शिक्षा हासिल करने के लिए बढ़िया माहौल प्राप्त हो सकेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें