Vivah Muhurat 2021: विंटर शादी सीजन शुरू, नवंबर और दिसंबर में लगन के सिर्फ 12 मुहूर्त

Pallawi Kumari, Last updated: Wed, 17th Nov 2021, 2:29 PM IST
  • कार्तिक मास की एकादशी तिथि के साथ ही हिंदू धर्म के सभी शुभ और मंगल कार्य शुरू हो जाते हैं. 15 नवंबर के बाद से ही शादी-ब्याय जैसे मांगलिक कार्यों की शुरुआत हो चुकी है. आइये जानते हैं नवंबर और दिसंबर में शादी के लिए किस दिन है शुभ मुहूर्त.
नवंबर दिसंबर में शादी के लिए शुभ मुहूर्त.

हिंदू धर्म में पूजा पाठ, मुंडन, हवन, तीर्थ से लेकर शादी ब्याह तक सभी के लिए शुभ मुहूर्त अनिवार्य होता है. शुभ मुहूर्त देखकर ही शुभ और मांगलिक कार्य किए जाते हैं, ऐेसे में शादी ब्याह जैसे मांगलिक कार्यों के लिए मुहूर्त देखना और भी जरूरी हो जाता है. बता दें कि कार्तिक से पहले चार महीनों के लिए शुभ कार्यों नहीं किए जाते. मान्यता है कि भगवान विष्णु चार महीने के लिए योग निद्रा में होते हैं. इसलिए इस चतुर्मास के दौरान कोई शुभ व मांगलिक कार्य नहीं किया जाता है.

 कार्तिक मास की देवउठनी एकादशी के दिन भगवान चार मास बाद जब योग निद्रा से जागते हैं तो उनके शालीग्राम स्वरूप का विवाह तुलसी माता के साथ कराया जाता है और इसी के साथ शादी ब्याद जैसे शुभ मागंलिक कार्यों की शुरुआत हो जाती है. 15 नवंबर एकादशी के दिन से ही शादी-ब्याह जैसे मांगलिक कार्य शुरू हो गए हैं. आइये जानते हैं कि हिंदू परिवारों में नवंबर और दिसंबर में शादी ब्याह के लिए कौन कौन से शुभ मुहूर्त हैं.

वैकुण्ठ चतुर्दशी पर आज होगी भगवान विष्णु की पूजा, ये है मुहूर्त, पूजा विधि, महत्व और कथा

ज्योतिष आचार्य पंडित राकेश झा के अनुसार, इस साल 2021 में शादी ब्याह लगन के लिए सिर्फ 12 मुहूर्त है. वहीं 13 दिसंबर के बाद कोई भी शुभ मुहूर्त नहीं हैं. इसलिए 13 दिसंबर के बाद की शादी के लिए आपको अगले वर्ष यानी 2022 तक का इंतजार करना पड़ेगा.

बनारसी पंचांग के अनुसार नवंबर में 19, 20, 21, 26, 28, 29 तारीख विवाह के लिए शुभ बताए गए हैं. वहीं दिसंबर महीने में 1, 2, 5, 7, 12 और 13 दिसंबर तक शादी के शुभ मुहुर्त हैं. मिथिला पंचांग के मुताबिक नवंबर में 21,22, 29 विवाह के लिए शुभ है. वहीं दिसंबर महीने में 1, 2, 5, 6, 8, 9 और 13 दिसंबर के बाद इस साल शादी के लिए कोई मुहूर्त नही है.

Lunar Eclipse: 19 नवंबर को लगेगा सदी का लंबा चंद्र ग्रहण, ये राशिया होंगी सबसे ज्यादा प्रभावित

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें