इस घटना के बाद से बुधवार को होने लगी गणेश पूजा, ये हैं विघ्नहर्ता को प्रसन्न करने के उपाय

Pallawi Kumari, Last updated: Wed, 1st Sep 2021, 7:22 AM IST
  • प्रथम पूज्य देव श्री गणेश की पूजा हर शुभ कार्य से पहले की जाती है.वहीं अगर बात करें साप्ताहिक पूजा की तो भगवान का बुधवार का दिन प्रिय होता है. बुधवार के दिन भगवान की पूजा करने से श्री गणेश प्रसन्न होकर मनचाहा वरदान देते हैं.
गणेश पूजा के लिए खास है बुधवार का दिन. फोटो साभार-लाइव हिन्दुस्तान

हिन्दू धार्मिक मान्याता में हर दिन किसी किसी ना किसी देवता के लिए खास माना जाता है. सप्ताह के सातों में दिन में हर दिन किसी ना किसी देवी देवता की पूजा की जाती है, जो दिन जिस देवी देवता को समर्पित होता अगर उस दिन उनकी पूजा की जाए जो कहा जाता है कि भगवान शीघ्र प्रसन्न होकर वरदान देते हैं. आज बुधवार है और हुधवार के लिए प्रथम पूज्य विघ्नहर्ता श्री गणेश की पूजा की जाती है. 

हम में से अधिक लोगों के मन में ये सवाल होता है कि आखिर क्यों बुधवार के दिन भगवान गणेश की खास पूजा की जाती है, क्यों उन्हें ये दिन अतिप्रिय है. तो चलिए आपको बताते हैं गणेश भगवान और बुधवार से जुड़ी ये कथा.

बुधवार को पूजा करने का ये है धार्मिक मान्यता: पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, जब माता पार्वती से बाल गणेश जी की उत्पति हुई, उस वक्त भगवान शिल के धाम कैलाश में बुध देव भी उपस्थित थे. इसलिए श्रीगणेश जी की आराधना के लिए बुध देव प्रतिनिधि वार हुए यानी बुधवार के दिन गणेश जी पूजा का विधान बन गया.

Pitru Paksha 2021: इस दिन से आरंभ है पितृ पक्ष, ये है पहले श्रद्ध की तिथि

बुधवार उपाय- गणेश भगवान के प्रिय दिन बुधवार को कुछ खास उपाय किए जाते हैं, जिससे भगवान गणेश प्रसन्न होते हैं.

आज पूजा करते वक्त गणेश भगवान को दुर्वा अर्पित करने से वह जल्दी प्रसन्न होते हैं.

बुधवार के दिव गुड़ और धनिया का भोग भगवान श्रीगणेश को लगाना चाहिए. इससे उनकी कृपा जल्दी प्राप्त होती है.

आज के दिन किसी जरूरी काम से बाहर जाएं तो सौंफ खाकर जाएं. इससे आप जिस काम के लिए निकलते हैं उसमें सफलता मिलती है.

आज बुधवार के दिन हरे रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है.

पूजा के समय 'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:' का 108 बार जाप करें.

Festival September 2021: सितंबर माह में पड़ रहे हैं ये तीज-त्योहार, यहां देखें लिस्ट

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें