पटना: चार दिवसीय छठ पूजा धूमधाम से संपन्न, सीएम आवास में मना छठ महापर्व

Smart News Team, Last updated: 21/11/2020 08:42 PM IST
  • सुबह के अर्घ्य के साथ चार दिवसीय छठ महापर्व संपन्न हो गया. शनिवार को उगते सूर्य को दिन के 6 बजकर 25 मिनट के बाद लोगों ने अर्घ्य देना शुरू किया और उसके बाद व्रती पारन किए. लोगों ने पूरी धूमधाम के साथ छठ त्योहार का आयोजन किया. इस दौरान सड़कें, गलियां सभी चकाचक साफ रहीं. सड़कों के किनारों को भी लाइटों से सजाया गया था. 
  • सीएम नीतिश कुमार के यहां भी छठ पर्व मनाया गया. मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने अपने परिवार और रिश्तेदारों संग छठ पूजा का आयोजन किया. एक अन्य मार्ग पर उन्होंने शाम और सुबह दोनों समय का अर्घ्य दिया. इस मौके पर उनके कई करीबी रिश्तेदार वहां मौजूद थे. 
  • छठ पूजा के समापन के बाद पटना की सड़कें पूरी तरह सुनसान रहीं. चार दिनों के कठिन पर्व के बाद लोग अपने घरों में आराम के मूड़ में रहे. सड़कों पर वाहन और लोग बहुत कम निकले. यहां तक कि चौक और बाजार में भी पूरी तरह सन्नाटा रहा. गली मोहल्ले की दुकानें ही खुली मिलीं. छठ के आयोजन के बाद इस तरह का नजारा पटना में आम है. 
  • पटना में शनिवार को 109 कोरोना संक्रमित मिले. अब एक्टिव संक्रमितों की संख्या 1750 के आसपास है. अगर संक्रमितों की संख्या में कमी होती रही तो अगले कुछ दिनों में पटना कोरोना संक्रमण की चपेट से बाहर आ सकता है. इसके लिए प्रशासन की अपील लोगों को माननी होगी. सिविल सर्जन डॉक्टर विभा कुमारी सिंह ने कहा कि अगले दो तीन महीने पटना के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं. इस दौरान लोग अगर सावधानी बरतेंगे तो संक्रमण को पूरी तरह से रोका जा सकता है. 
  • छपरा गोलीकांड में घायल दोनों युवक गोलू कुमार सिंह और रीतिक कुमार सिंह खतरे से बाहर हैं. छठ घाट पर फायरिंग के दौरान दोनों घायल हो गए थे. एक युवक रीतिक की बांह और गोलू के दोनों पैरों पर गोली के छर्रे लगे हैं. डॉक्टरों का कहना है कि अगर गोली थोड़ी और ऊपर लगती तो गोलू की जान जा सकती थी. 
  • छठ पूजा के अर्घ्य देने के दौरान घाटों पर सुरक्षाकर्मियों की मुस्तैदी से बड़ा हादसा टल गया. शुक्रवार को दीघा घाट पर एक महिला अर्घ्य देने के दौरान बेहोश हो गई. उसको सुरक्षाकर्मियों ने तत्काल अस्थायी अस्पताल पहुंचाया गया जहां उसकी जान बच गई. जान बचने के बाद महिला को दोबारा अर्घ्य दिलाया गया. वहीं पीएमसीएच में डॉक्टरों की तत्परता से दो लोगों की जान बच गई. एक महिला को पूजा के दौरान घाट के किनारे हार्ट अटैक आया जबकि एक बुजुर्ग पानी में डूब गए. दोनों को सुरक्षाकर्मियों ने तत्काल अस्पताल पहुंचाया. जहां डॉक्टरों की मुस्तैदी से दोनों की जान बच गई.

सम्बंधित वीडियो गैलरी