अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत, मठ के अंदर फांसी से लटका शव मिला

Atul Gupta, Last updated: Tue, 21st Sep 2021, 12:18 AM IST
  • अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और प्रयागराज बड़े हनुमान मंदिर के महन्त नरेन्द्र गिरी महराज की संदिग्ध हालत में मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि मठ के भीतर नरेंद्र गिरी का शव लटका मिला है.
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र

प्रयागराज: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी का निधन हो गया है. जानकारी के मुताबिक महंत नरेंद्र गिरी प्रयागराज का बाघबंरी मठ में संदिग्ध हालत में मृत पाए गए. महंत नरेंद्र गिरी की मौत के कारणों का फिलहाल पता नहीं चला है लेकिन सूत्रों के मुताबिक महेंद्र गिरी का शव पंखे से लटका मिला है. हालांकि अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है कि ये आत्महत्या है या मामला कुछ और है. 

बाघबंरी मठ के भीतर बड़ी संख्या में पुलिस और प्रशासन के लोग मौजू हैं जबकि मठ के बाहर मीडिया का जमावड़ा लगा हुआ है. गौरतलब है कि रविवार को ही महंत नरेंद्र गिरी ने रविवार को ही मिजोरम के पूर्व राज्यपाल और केरल बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष के राजशेखरण से मुलाकात की थी. 

महंत नरेंद्र गिरी की मौत को लेकर चल रही अटकलों के बीच उनके शिष्य आनंद गिरी ने कहा,उनकी मौत आत्महत्या नहीं हत्या है. आनंद गिरी के बयान से महंत महेंद्र गिरी की मौत का मामला पेचिदा हो गया है. हालांकि अपुष्ट सूत्रों का कहना है कि महंत नरेंद्र गिरी ने आत्महत्या की है लेकिन प्रशासन किसी भी तरह का कोई रिक्स नहीं लेना चाहता लिहाजा पोस्टमार्टम पर विचार किया जा रहा है. मठ के भीतर फोरेंसिक और डॉग स्क्वायड टीम को भी बुलाया गया है.

प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी ने नरेंद्र गिरी के निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया- अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री नरेंद्र गिरि जी का देहावसान अत्यंत दुखद है। आध्यात्मिक परंपराओं के प्रति समर्पित रहते हुए उन्होंने संत समाज की अनेक धाराओं को एक साथ जोड़ने में बड़ी भूमिका निभाई। प्रभु उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें। ॐ शांति!!

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महंत नरेंद्र गिरी के निधन पर कहा है कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि जी का ब्रह्मलीन होना आध्यात्मिक जगत की अपूरणीय क्षति है. प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान तथा शोकाकुल अनुयायियों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें.

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी महंत नरेंद्र गिरी की मौत पर शोक जताते हुए ट्वीट में लिखा- मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि पूज्य महंत नरेंद्र गिरि जी महाराज ने ख़ुदकुशी की होगी, स्तब्ध हूँ निःशब्द हूँ आहत हूँ,मैं बचपन से उन्हें जानता था,साहस की प्रतिमूर्ति थे,मैंने कल ही सुबह 19 सितंबर को आशीर्वाद प्राप्त किया था,उस समय वह बहुत सामान्य थे बहुत ही दुखद असहनीय समाचार है !

प्रयागराज आईजी के.पी. सिंह ने अपने बयान में कहा है कि हमें आश्रम से फोन आया कि महाराज(महंत नरेंद्र गिरि) फंदे से लटक गए हैं. जब हम यहां आए तो देखा कि महाराज ज़मीन पर लेटे हुए थे. रस्सी पंखे में फंसी हुई थी. उनकी मृत्यु हो चुकी थी. उन्होंने आगे कहा कि प्रथम दृष्टया ये सुसाइड का मामला लग रहा है. उनका(महंत नरेंद्र गिरि) सुसाइड नोट भी मिला है. सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि मैं बहुत से कारणों से दुखी था इसलिए आत्महत्या कर रहा हूं. मामले में जांच जारी है

 

अन्य खबरें