वरुण गांधी के कांग्रेस में आने का पोस्टर लगाने वाले नेता को नोटिस, 24 घंटे में मांगा जवाब

Swati Gautam, Last updated: Wed, 13th Oct 2021, 5:16 PM IST
 किसानों के हक में बयान देने वाले भाजपा सांसद वरुण गांधी का पोस्टर सोनिया गांधी के साथ लगाने वाले कांग्रेस नेता मुसीबत में फंस गया है. पार्टी ने ही उससे नोटिस भेजकर 24 घंटे में जवाब मांगा है.
सोनिया गांधी और वरुण गांधी के पोस्टर वायरल होने पर कांग्रेस नेता को नोटिस, 24 घंटे में मांगा जवाब

प्रयागराज. किसानों के हक में बयान देने के बाद चर्चाओं से घिरे भाजपा सांसद वरुण गांधी का फोटो पोस्टर में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ लगाने को लेकर प्रयागराज के कांग्रेसी नेता पर पार्टी ने एक्शन लिया है.  दरअसल शहर कांग्रेस कमेटी के सचिव इरशाद उल्ला ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर एक पोस्टर वायरल किया इसमें पीलीभीत के भाजपा सांसद वरुण गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की तस्वीर लगी है. चंद मिनटों में ही पोस्टर सोशल मीडिया पर छा गया. इस पोस्टर के वायरल होते ही सियासी गलियारे में हलचल तेज हो गई है. शहर कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष/प्रशासन प्रदीप नारायण द्विवेदी ने इरशाद उल्ला को नोटिस जारी कर 24 घंटे के भीतर जवाब देने को कहा है. जवाब संतोषजनक नहीं होने पर पार्टी से बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी.

मंगलवार को वायरल हुए इस पोस्टर में सोनिया गांधी के साथ पीलीभीत के भाजपा सांसद वरुण गांधी की फोटो लगी है. पोस्टर के नीचे इरशाद और वरिष्ठ कांग्रेस नेता बाबा अभय अवस्थी की भी तस्वीर है. इस पोस्टर में लिखा है कि 'सुस्वागतम्, दुख भरे दिन बीते रे भइया, अब सुख आयो रे. प्रयागराज से इस पोस्टर को जारी किए जाने के बाद तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं. कांग्रेस नेतृत्व ने भी इसे गंभीरता से लिया है.

यूपी में भूमाफियाओं से खाली कराई जमीन पर गरीबों को सस्ते दामों पर घर देगी योगी सरकार

पोस्टर के वायरल होते ही पार्टी ने शहर सचिव इरशाद उल्ला को घेरे में ले लिया. जवाब में इरशाद अपनी ही कही बातों से पलटते नजर आए. फोन के माध्यम से जब इरशाद उल्ला ने संपर्क करने की कोशिश की गई तो उन्होंने कहा कि सांसद वरुण गांधी की मुलाकात सोनिया गांधी से होनी है. अति उत्साह में आकर उन्होंने पोस्टर में सुस्वागतम लिखा. अपनी कही बात पर ही पलटते हुए उन्होंने अगली लाइन में कहा कि यह किसी की शरारत है और फोन काट दिया. इसके बाद भी उनसे संपर्क करने की कोशिश की गई तो फोन नॉट रिचेबल बताता रहा. वहीं पोस्टर को लेकर पूर्व प्रवक्ता बाबा अभय अवस्थी ने कहा कि यह किसी नए कार्यकर्ता ही शरारत है.

अन्य खबरें