prayagraj : धनतेरस पर बिक्री का आंकड़ा पहुंचा 15 सौ करोड़, जमकर हुई खरीदारी

Indrajeet kumar, Last updated: Wed, 3rd Nov 2021, 8:04 AM IST
  • उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में इस बार धनतेरस के मौके पर कारोबार का आंकड़ा 15 सौ करोड़ के करीब पहुंच गया है. शहर के सिविल लाइंस, कटरा, चौक, कोठा पारचा समेत कई बाजारों में देर रात तक चहल पहल बनी रही. इस दौरान गहने जेवर, बर्तन, इलेक्ट्रॉनिक, ऑटो सेक्टर, मोबाइल, कपड़ों की जमकर खरीदारी हुई.
प्रतीकात्मक फोटो

प्रयागराज. प्रयागराज में धनतेरस पर कारोबार 15 सौ करोड़ के करीब पहुंच गया है. शहर के सिविल लाइंस, कटरा, चौक, कोठा पारचा समेत शहर के हर बड़े बाजार देर रात तक चहल पहल बना रहा. गहने जेवर, बर्तन, इलेक्ट्रॉनिक, ऑटो सेक्टर, मोबाइल, कपड़ों के बाजार में ऐसी बढ़त कई सालों बाद नजर आया. ज्वेलरी शोरूम समेत अन्य उत्पादों के ब्रांडेड कंपनियों के प्रतिष्ठान फूलों और लाइटों से चमकते रहे साथ ही इन दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ ने चार चांद लगा दिए. हर साल खरीद बिक्री का आंकड़ा रखने वाले जानकारों का कहना है कि इस बार दिवाली पर कारोबार का आंकड़ा 15 सौ करोड़ के पास चल गया है. ऐसे में दिवाली सही मायने में खुशियों वाली दिवाली साबित होगी.

कोरोना महामारी के कारण लगातार दो सालों से सुस्त बाजार में ज्यादा खरीदारी नहीं हुई थी. लेकिन इस बार के दिवाली पर लोगों ने जमकर खरीदारी कर के सारी कसर पूरी कर ली है. इस बार के दिवाली पर सबसे ज्यादा रौनक सर्राफा बाजार में देखने को मिला. गहनों की बिक्री के मामले में पिछले चार साल के रिकॉर्ड टूट गए हैं. देर रात तक सोने, चांदी और डायमंड ज्वैलरी की खरीद ने सारी मंदी को दरकिनार कर दिया. शहर में सबसे ज्यादा बिक्री सोने की हुई. शहर के सिविल लाइंस इलाके में ब्रांडेड शोरूमों से गोल्ड-डायमंड नेकलेस काफी ज्यादा बिके. यहां एक नेकलेस और हार का दाम लगभग 40 से 50 लाख के बीच रहा. जानकारों का कहना है कि इस बार धनतेरस पर सर्राफा बाजार का कारोबार 400 करोड़ से ज्यादा का रहा है. साथ ही इस बार हल्के वजन वाली डायमंड जड़ित सोने की अंगूठी गिफ्ट देने के लिए खूब खरीदी गई.

ट्रैक पूजन के साथ हजारों मोमबत्तियों से जगमगाया मदन मोहन मालवीय स्टेडियम

इधर कपड़ों के बाजार में भी काफी बढ़त देखने को मिला. इस बार सबसे ज्यादा डिजाइनर कुर्ते बिके. वहीं शहर के सिविल लाइंस इलाके में जींस, शर्ट, फुल स्लीव्स कैप टी-शर्ट, सदरी जैसे कपड़ों की खूब बिक्री हुई. इस बार महिलाओं में भारतीय कपड़ों की काफी मांग रही. ढ़ाई वाले सूट और साड़ियां महिलाओं ने काफी पसंद किया. साथ ही लग्न के वजह से लहंगा, लहरिया, जड़ी-बूटा वाली डिजाइन साड़ियां अच्छी खासी मात्रा में बिकी. बर्तन बाजार में भी जमकर बर्तनों की बिक्री हुई. देर रात तक बर्तनों की खरीद के लिए महिलाएं बाजार में घूमती रहीं. इस बार स्टील की बर्तनों की बिक्री काफी ज्यादा हुई. 

अन्य खबरें