1 हजार करोड़ की संपत्ति छोड़ गए महंत नरेंद्र गिरि, पूरे देश में मठ की जमीन और आश्रम

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 22nd Sep 2021, 2:15 PM IST
  • बांघबरी मठ के महंत और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि अपनी मौत के साथ करोड़ों की संपत्ति और जमीन छोड़ गए हैं. मठ के पास अभी 1000 करोड़ से अधिक की संपत्ति है. जिसमें, पूरे देश में कई जगह मठ के मंदिर व आश्रम चल रहे हैं. सिर्फ प्रयागराज में मठ के पास सैकड़ों बीघा जमीन पड़ी है.
1 हजार करोड़ की संपत्ति छोड़ गए महंत नरेंद्र गिरि (फाइल फोटो)

प्रयागराज. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी. जिनका आज पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार बांघबरी मठ में ही भूमि समाधि देकर किया जा रहा है. नरेंद्र गिरि अपने पीछे बांघबरी मठ की गद्दी और 1000 करोड़ की मठ की संपत्ति छोड़ गए हैं. मठ की कुल संपत्ति 1000 करोड़ से अधिक है. मठ के पूरे देश में कई आश्रम और मंदिर है. जिनका एकाधिकार मठ को है. साथ ही प्रयागराज का सबसे प्रसिद्ध हनुमान मंदिर भी मठ के अधीन है. अब इस संपत्ति और मठ की गद्दी का उत्तराधिकार तय होना बाकी है. वहीं, नरेंद्र गिरि की मौत के बाद मिले उनके कथित आत्महत्या नोट में उन्होंने अपने शिष्य बलबीर गिरि को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया है.

सिर्फ प्रयागराज में 100 और मिर्जापुर में है 100 बीघा जमीन

जानकारी के अनुसार, प्रयागराज के अल्लापुर इलाके में बाघंबरी गद्दी और मठ है. यह पूरा इलाका लगभग 5 से 6 बीघा में फैला हुआ है. इसके अलावा दारागंजमें भी अखाड़े की जमीन है. प्रयागराज का लेटे हुए हनुमान मंदिर भी मठ के अधीन हैं. मठ के नाम प्रयागराज के माडा में 100 बीघा और मिर्जापुर में 400 बीघा जमीन है. वहीं, मिर्जापुर में नैडी और सिगड़ा में 70-70 बीघा जमीन है.

महंत नरेंद्र गिरि के पार्थिव शरीर को बाघंबरी मठ में नींबू के पेड़ के नीचे दी जाएगी भू-समाधि !

सिर्फ यूपी में 300 करोड़ से अधिक की संपत्ति

जानकारी अनुसार, सिर्फ यूपी में प्रयागराज और उसके आस-पास के इलाकों की बात की जाए तो मठ के पास करीब 300 करोड़ रुपये की संपत्ति है. वहीं, हरिद्वार समेत अन्य राज्यों की संपत्ति जोड़ ली जाए तो यह आंकड़ा 1 हजार करोड़ के ऊपर चला जाएगा.

महंत नरेंद्र गिरी मौत मामले में अखिलेश-योगी के एक सुर, आरोपियों को मिले सजा

उज्जैन, वाराणसी समेत कई स्थानों में मंदिर व आश्रम

मठ के सिर्फ प्रयागराज में ही मंदिर है. मठ के उज्जैन, ओंकारेश्वर, नासिक, बड़ोदरा, वाराणसी, माउंटआबू, जयपुर, नोएडा समेत कई स्थानों में कई मंदिर और आश्रम हैं. जिनके पास कई बीघा जमीन भी है.

अन्य खबरें