क्या खुलेगा नरेंद्र गिरी की मौत का राज, आनंद गिरी समेत तीन 7 दिन की CBI रिमांड में

Nawab Ali, Last updated: Mon, 27th Sep 2021, 5:13 PM IST
  • अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी संदिग्ध मौत्त मामले में सीजेएम कोर्ट ने सीबीआई को आनंद गिरी समेत अन्य तीन आरोपियों की रिमांड की अनुमति दे दी है. सीबीआई महंत नरेंद्र गिरी के मोबाइल फोन और डीवीआर की भी जांच करेगी जिसके लिए कोर्ट ने उपकरणों की सील खोलने के आदेश दे दिए हैं.
सीबीआई को कोर्ट से आनंद गिरी व अन्य तीन आरोपी की रिमांड मिली. (फाइल फोटो)

प्रयागराज. अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत के मामले में सीजेएम कोर्ट से आरोपी आनंद गिरी समेत अन्य की सात दिनों की रिमांड की अनुमति मिल गई है. सीबीआई ने महंत नरेंद्र गिरी की मौत की जांच के लिए न्यायलय से 10 दिन की रिमांड मांगी थी. न्यायलय ने पुलिस द्वारा महंत नरेंद्र गिरी की मौत से जुड़े सील किये गए सभी इलेक्ट्रोनिक उपकरणों को दोबारा से जांच करने के लिए सीबीआई को अनुमति दे दी है. न्यायलय ने सभी इलेक्ट्रोनिक उपकरणों की सील को दो स्वतंत्र साक्षियों के सामने खोलने की अनुमति दी है.

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत को लेकर सीबीआई को न्यायलय ने आरोपी आनंद गिरी व अन्य तीन आरोपियों की 7 दिन की रिमांड मंजूर कर दी है. अब महंत की मौत के मामले में आरोपियों को सीबीआई अपनी कस्टडी में लेकर पूछताछ करेगी. सीबीआई ने कोर्ट में महंत नरेंद्र गिरी की मौत से जुड़े सभी इलेक्ट्रोनिक उपकरणों को लेकर भी सबूत जुटाने की मांग की थी जिन्हें पुलिस द्वारा जब्त कर सील कर दिया गया था अब न्यायलय की अनुमति के बाद सीबीआई सभी उकरणों की भी जांच करेगी. सीबीआई ने उपकरणों की जांच के लिए सील खोलने की अनुमति देते हुए कहा है कि सभी को स्वतंत्र साक्षियों के सामने खोला जाये साथ ही डाटा लेने के बाद सभी उपकरणों से बिना छेड़छाड़ के सुरक्षित सील कर दिया जाए. सीबीआई की मांग पर आरोपी पक्ष ने कोई भी आपत्ति नहीं जताई है.

Narendra Giri Death: जांच के लिए मठ पहुंची CBI ने सेवादारों से की पूछताछ

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत के बाद उनके कथित सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने उनके शिष्य आनंद गिरी समेत कई लोगों को अपनी हिरासत में लिय है. अब सीबीआई सभी आरोपियों को अपनी कस्टडी में लेकर उनसे पूछताछ करेगी. योगी आदित्यनाथ सरकार की संस्तुति के बाद महंत की मौत की जांच सीबीआई को सौंपी गई थी. महंत की मौत के मामले में खुलासा हुआ है कि घटना वाले दिन को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है उस दिन मठ के कैमरे बंद थे जिससे उनकी संदिग्ध मौत को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं.

 

अन्य खबरें