संजय निषाद की BJP से मांग, कहा- जल्द आरक्षण दे सरकार, वोट बिखरेगा तो सपा-बसपा लूट लेंगी

Nawab Ali, Last updated: Mon, 8th Nov 2021, 5:57 AM IST
  • निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद ने प्रयागराज के सर्किट हाउस में प्रेसवार्ता के दौरान कहा है कि निषाद समाज की आरक्षण को भाजपा जल्द पूरा करें नहीं तो निषाद समाज का वोट बिखर जायेगा जिसे सपा-बसपा लूट लेंगी.  
डॉ संजय निषाद ने कहा जल्द निषाद समाज की आरक्षण की मांग पूरी करे बीजेपी.

प्रयागराज. संकल्प समाज उत्थान आरक्षण यात्रा को लेकर रविवार को प्रयागराज पहुंचें निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं विधान परिषद सदस्य डॉ संजय निषाद ने विकाशसील इंसान पार्टी के प्रमुख मुकेश साहनी पर कई आरोप लगाये है. संजय निषाद ने निशाना साधते हुए कहा है कि मुकेश साहनी निषाद समाज के साथ धोखा कर रहे हैं. वो समाज को गुमराह करने का काम कर रहे हैं, लेकिन आज निषाद समाज जागरूक हो चुका है और किसी के बहकावे में नहीं आएगा. उन्होंने कहा है कि भगवान राम को उनके घरवाले समझ नहीं पाए कि वो भगवान हैं नहीं तो उन्हें नहीं निकालते.

प्रयागराज के सर्किट हाउस में निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद ने प्रेसवार्ता कर कहा है कि भगवान राम को कोई नहीं समझ पाया लेकिन निषाद राज ऐसे व्यक्ति थे जो जानते तठे कि कि वो भगवान हैं. उन्होंने ने आरक्षण को लेकर कहा है कि आरक्षण को लेकर कहा है कि हमारे समाज का कहना है कि की आरक्षण नहीं तो वोट नहीं. संजय निषाद ने भाजपा से मांग करते हुए कहा है कि हमारे समाज को जल्द से जल्द आरक्षण पर दस्तखत करें नहीं तो समाज के बिखरे वोट सपा-बसपा लूट लेंगे. उन्होंने मांग करते हुए कहा है कि निषाद समाज को पिछड़ों से निकालकर राष्ट्रपति काडर को लागू करें.

डेटिंग साइट पर दोस्ती के 4 दिन बाद बनाए शारीरिक संबंध, अब कोर्ट में कैरेक्टर को लेकर चल रही लड़ाई

यूपी चुनाव को लेकर संजय निषाद ने कहा है कि 2022 में 80 सीटों पर निषाद बिरादरी के लोगों को चुनाव लड़ाएं और हमारी पार्टी उन्हें चुनाव लड़कर दिखायेगी जिससे भाजपा की फिर से 2022 में सत्ता में वापसी होगी. डॉ. संजय कुमार निषाद ने द ग्रेट निषाद युवा वाहिनी की ओर से किए जा रहे क्रमिक अनशन का समर्थन किया और कहा कि भाजपा यदि जल्दी से अपने वादे को पूरा करते हुए मछुआ एससी मझवार, तुरैहा आरक्षण प्रमाण पत्र जारी करती है, तो निषाद पार्टी का गठबंधन भाजपा के ही पिछले रिकॉर्ड को तोड़कर उत्तरप्रदेश में सबसे ज्यादा सीटें जीतने वाला गठबंधन बनेगा.

 

अन्य खबरें